Sunday, February 07, 2010

18

Maithili word Meaning Sentence
अगस्ति स्थातयी पैघ गाछ; एकहरा; लाल; कातिकसँ माघ। स्थाकयी पैघ गाछ; एकहरा; लाल; कातिकसँ माघ।
अढूल साहित्यिक नाम साहित्यिक नाम
अड़हुल साहित्यिक नाम साहित्यिक नाम
ओढूल साहित्यिक नाम साहित्यिक नाम
ओड़हुल साहित्यिक नाम साहित्यिक नाम
जपाकुसुम स्याुयी गछुली; एकहरा एवं दोहरा ; लाल, पीयर , उज्जलर, नील ओ गैरिक वर्ण; बारहो मास दोहरा प्रभेद स्यादयी गछुली; एकहरा एवं दोहरा ; लाल, पीयर , उज्जार, नील ओ गैरिक वर्ण; बारहो मास दोहरा प्रभेद
जवकुसुम स्यासयी गछुली; एकहरा एवं दोहरा ; लाल, पीयर , उज्जलर, नील ओ गैरिक वर्ण; बारहो मास दोहरा प्रभेद स्यादयी गछुली; एकहरा एवं दोहरा ; लाल, पीयर , उज्जार, नील ओ गैरिक वर्ण; बारहो मास दोहरा प्रभेद
पचमुखी एकहरा गाढ़ लाल रंगक प्रभेद एकहरा गाढ़ लाल रंगक प्रभेद
पञ्चमुखी एकहरा गाढ़ लाल रंगक प्रभेद एकहरा गाढ़ लाल रंगक प्रभेद
देसी संकुचित दलवला प्रभेद संकुचित दलवला प्रभेद
मिरचइया झुमका सदृश झुमका सदृश
झुमका गौरिक वर्णवला प्रभेद गौरिक वर्णवला प्रभेद
जोगिया गौरिक वर्णवला प्रभेद गौरिक वर्णवला प्रभेद
अनपी स्था यी गछुली, एकहरा, पीताभा, पाकल कटहरक को जकाँ सुगन्धक; चैतसँ भादो । स्था्यी गछुली, एकहरा, पीताभा, पाकल कटहरक को जकाँ सुगन्धय; चैतसँ भादो ।
अनुपी स्थाीयी गछुली, एकहरा, पीताभा, पाकल कटहरक को जकाँ सुगन्धक; चैतसँ भादो । स्था्यी गछुली, एकहरा, पीताभा, पाकल कटहरक को जकाँ सुगन्धय; चैतसँ भादो ।
कटहरिया चम्पाध स्थाियी गछुली, एकहरा, पीताभा, पाकल कटहरक को जकाँ सुगन्धक; चैतसँ भादो । स्था्यी गछुली, एकहरा, पीताभा, पाकल कटहरक को जकाँ सुगन्धय; चैतसँ भादो ।
कटहरी स्थाीयी गछुली, एकहरा, पीताभा, पाकल कटहरक को जकाँ सुगन्धक; चैतसँ भादो । स्था्यी गछुली, एकहरा, पीताभा, पाकल कटहरक को जकाँ सुगन्धय; चैतसँ भादो ।
अपराजित स्थाजयी लत्ती; सितुहाक आकृतिक एकहरा; उज्जिर एवं नील; जेठसँ अगहन। स्था।यी लत्ती; सितुहाक आकृतिक एकहरा; उज्जतर एवं नील; जेठसँ अगहन।
अपाराजिता स्थाायी लत्ती; सितुहाक आकृतिक एकहरा; उज्जिर एवं नील; जेठसँ अगहन। स्था।यी लत्ती; सितुहाक आकृतिक एकहरा; उज्जतर एवं नील; जेठसँ अगहन।
खुरचनिञा स्थानयी लत्ती; सितुहाक आकृतिक एकहरा; उज्जिर एवं नील; जेठसँ अगहन। स्था।यी लत्ती; सितुहाक आकृतिक एकहरा; उज्जतर एवं नील; जेठसँ अगहन।
इन्द्रलकमल अस्थारयी गछुली; दोहरा; उज्जलर एवं हल्कार नील; चैतसँ अषाढ़ अस्थारयी गछुली; दोहरा; उज्जलर एवं हल्कार नील; चैतसँ अषाढ़
कगजिया स्थाययी लत्ती; कागतक पात जकाँ दलयुक्त सुगन्धा विहीन फूल; लाला, उज्जफर; उज्जकर; बारहो मास। स्थाोयी लत्ती; कागतक पात जकाँ दलयुक्ता सुगन्धल विहीन फूल; लाला, उज्ज्र; उज्जउर; बारहो मास।
बैगनबरिया स्थाबयी लत्ती; कागतक पात जकाँ दलयुक्त सुगन्धा विहीन फूल; लाला, उज्जफर; उज्ज;र; बारहो मास। स्थाोयी लत्ती; कागतक पात जकाँ दलयुक्ता सुगन्धल विहीन फूल; लाला, उज्ज्र; उज्जउर; बारहो मास।
कचनार प्राचीन शब्द काञ्चनाल स्थाचयी गाछ, एकहरा एवं दोहरा; विविध रंग, कातिक-अगहन। प्राचीन शब्दअ काञ्चनाल स्थागयी गाछ, एकहरा एवं दोहरा; विविध रंग, कातिक-अगहन।
कचनारि प्राचीन शब्द काञ्चनाल स्थाचयी गाछ, एकहरा एवं दोहरा; विविध रंग, कातिक-अगहन। प्राचीन शब्दअ काञ्चनाल स्थागयी गाछ, एकहरा एवं दोहरा; विविध रंग, कातिक-अगहन।
कचनारी प्राचीन शब्द काञ्चनाल स्थाचयी गाछ, एकहरा एवं दोहरा; विविध रंग, कातिक-अगहन। प्राचीन शब्दअ काञ्चनाल स्थागयी गाछ, एकहरा एवं दोहरा; विविध रंग, कातिक-अगहन।
कननडोला अस्थालयी छोट गछुली; दोहरा, समतोला; आसिनसँ चैत । अस्थाँयी छोट गछुली; दोहरा, समतोला; आसिनसँ चैत ।
कनैल स्था यी पैघ गाछ; एकहरा; पीयर, उज्जएर श्यााम ओ चम्पाइ; बारहो मास; प्राचीन शब्दो स्थाोयी पैघ गाछ; एकहरा; पीयर, उज्जार श्यारम ओ चम्पाइ; बारहो मास; प्राचीन शब्दब
कनिअरा स्थारयी पैघ गाछ; एकहरा; पीयर, उज्जएर श्यााम ओ चम्पाइ; बारहो मास; प्राचीन शब्दो कनिअरा (वर्ण) चम्पोइ रंगवला प्रभेद कन्ता कनैल। स्थाायी पैघ गाछ; एकहरा; पीयर, उज्जार श्यारम ओ चम्पाइ; बारहो मास; प्राचीन शब्दब कनिअरा (वर्ण) चम्परइ रंगवला प्रभेद कन्तापकनैल ।
कमल अस्थादयी; जलोदद्यभव; अनेक दल संयुत; लाल, नील, उज्जवरी ओ पीयर; आसिनसँ पूस; फुलबाक समय दिन; धड़वला डंटी अस्थाायी; जलोदद्यभव; अनेक दल संयुत; लाल, नील, उज्ज री ओ पीयर; आसिनसँ पूस; फुलबाक समय दिन; धड़वला डंटी
नाल पात पात
पुरौनि फऽड़ फऽड़
गट्टा कन्दा कन्दा
कमलगट्टा कन्दट कन्दट
बिसाँढ़ रक्ताढभ लाल रंगक प्रभेद रक्तादभ लाल रंगक प्रभेद
कोका रक्तादभ लाल रंगक प्रभेद रक्तादभ लाल रंगक प्रभेद
कयना कंदोद्भव ; अस्थापयी गछौनी; एकहरा; विविध रंग; बारहो मास। कंदोद्भव ; अस्था यी गछौनी; एकहरा; विविध रंग; बारहो मास।
सर्वजाया कंदोद्भव ; अस्था यी गछौनी; एकहरा; विविध रंग; बारहो मास। कंदोद्भव ; अस्था यी गछौनी; एकहरा; विविध रंग; बारहो मास।
वैजन्तीं कंदोद्भव ; अस्था यी गछौनी; एकहरा; विविध रंग; बारहो मास। कंदोद्भव ; अस्थाियी गछौनी; एकहरा; विविध रंग; बारहो मास।
बैजयन्ती कंदोद्भव ; अस्था यी गछौनी; एकहरा; विविध रंग; बारहो मास। कंदोद्भव ; अस्था यी गछौनी; एकहरा; विविध रंग; बारहो मास।
करबीर स्थारयी दंडाकार गछौनी; एकहरा एवं दोहरा; लाल; बारहो मास स्थाायी दंडाकार गछौनी; एकहरा एवं दोहरा; लाल; बारहो मास
कामनी स्थाीयी, एकहरा, सूक्ष्मढ थौक, उज्ज,र, चैतसँ अषाढ़। स्था़यी, एकहरा, सूक्ष्मा थौक, उज्जषर, चैतसँ अषाढ़।
कामिनी स्थानयी, एकहरा, सूक्ष्मष थौक, उज्ज,र, चैतसँ अषाढ़। स्था़यी, एकहरा, सूक्ष्मा थौक, उज्जषर, चैतसँ अषाढ़।
कुमुद जलोद्भव, भेंटक प्रभेद, फूल गाढ़ लाल, पात ललौन, फूलबाक समय-रात्रि काल। जलोद्भव, भेंटक प्रभेद, फूल गाढ़ लाल, पात ललौन, फूलबाक समय-रात्रि काल।
कुमुदनी जलोद्भव, भेंटक प्रभेद, फूल गाढ़ लाल, पात ललौन, फूलबाक समय-रात्रि काल। जलोद्भव, भेंटक प्रभेद, फूल गाढ़ लाल, पात ललौन, फूलबाक समय-रात्रि काल।
कुमुदिनी जलोद्भव, भेंटक प्रभेद, फूल गाढ़ लाल, पात ललौन, फूलबाक समय-रात्रि काल। जलोद्भव, भेंटक प्रभेद, फूल गाढ़ लाल, पात ललौन, फूलबाक समय-रात्रि काल।
केओड़ा कूसियारक डाँ सदृश स्थाययी गाछ, अत्यफधिक परागयुक्ता बाइल जकाँ फूल, फिक्काब पीताभ, आसिनसँ कातिक एवं चैतसँ जेठ। कूसियारक डाँ सदृश स्थाडयी गाछ, अत्य धिक परागयुक्तड बाइल जकाँ फूल, फिक्का पीताभ, आसिनसँ कातिक एवं चैतसँ जेठ।
केओला कूसियारक डाँ सदृश स्थाययी गाछ, अत्यअधिक परागयुक्तड बाइल जकाँ फूल, फिक्का पीताभ, आसिनसँ कातिक एवं चैतसँ जेठ। कूसियारक डाँ सदृश स्थाडयी गाछ, अत्य धिक परागयुक्तड बाइल जकाँ फूल, फिक्काँ पीताभ, आसिनसँ कातिक एवं चैतसँ जेठ।
क्योकला कूसियारक डाँ सदृश स्थाययी गाछ, अत्यअधिक परागयुक्तड बाइल जकाँ फूल, फिक्का पीताभ, आसिनसँ कातिक एवं चैतसँ जेठ। कूसियारक डाँ सदृश स्थाडयी गाछ, अत्य धिक परागयुक्तड बाइल जकाँ फूल, फिक्काँ पीताभ, आसिनसँ कातिक एवं चैतसँ जेठ।
केवला (सं.केतकी) कुसियारक डाँट सदृश स्थाययी गाछ, अत्य)धिक गाछ, अत्यसधिक परागयैत बाइल जकाँ फूल, फिक्का पीताभ, आसिनसँ कातिक एवं चैतसँ जेठ। कुसियारक डाँट सदृश स्थाडयी गाछ, अत्य धिक गाछ, अत्य धिक परागयैत बाइल जकाँ फूल, फिक्काँ पीताभ, आसिनसँ कातिक एवं चैतसँ जेठ।
गन्धकराज स्थाकयी मण्डँपकृति गाछ; एकहरा एवं दोहरा; उज्जार चैतसँ आषाढ़ स्था़यी मण्ड पकृति गाछ; एकहरा एवं दोहरा; उज्जार चैतसँ आषाढ़
अन्नँराज स्थाँयी मण्ड पकृति गाछ; एकहरा एवं दोहरा; उज्जार चैतसँ आषाढ़ स्था़यी मण्ड पकृति गाछ; एकहरा एवं दोहरा; उज्जार चैतसँ आषाढ़
अनराज स्थाजयी मण्ड पकृति गाछ; एकहरा एवं दोहरा; उज्जार चैतसँ आषाढ़ स्था़यी मण्ड पकृति गाछ; एकहरा एवं दोहरा; उज्जार चैतसँ आषाढ़
गुलदावरी अस्थावयी गछौनी, अनेकदल संयुत पैघ फूल; विभिन्नव रंग; पूससँ चैत । अस्था यी गछौनी, अनेकदल संयुत पैघ फूल; विभिन्नो रंग; पूससँ चैत ।
गुलफनूस स्थानयी गछोनी; दोहरा, अत्यनन्त मोलायम दल; उज्जनर जेठसँ साओन । स्थानयी गछोनी; दोहरा, अत्यनन्त मोलायम दल; उज्जार जेठसँ साओन ।
गुलमखमल स्थाखयी; कठोर दल संयुत; मखमली; जेठसँ कातिक। स्थाकयी; कठोर दल संयुत; मखमली; जेठसँ कातिक।
गुलराँयची स्थाायी, एकहरा, लाल, भरि साल। स्थासयी, एकहरा, लाल, भरि साल।
गुलेंच स्थांयी, एकहरा, लाल, भरि साल। स्थासयी, एकहरा, लाल, भरि साल।
गुलाँयची स्थाँयी, एकहरा, लाल, भरि साल। स्थासयी, एकहरा, लाल, भरि साल।
गुलाब काँटायुक्तक स्थालयी गछुली; एकहरा एवं दोहरा; विविध रंग, बारहो मास; काँटायुक्तक स्थारयी गछुली; एकहरा एवं दोहरा; विविध रंग, बारहो मास;
सु‍रहिया गाढ़ लाल रंगक प्रभेद गाढ़ लाल रंगक प्रभेद
चाइना ; फिक्काा लाल फिक्काा लाल
पालगुलाब प्रभेद प्रभेद
मार्सली पीयर प्रभेद पीयर प्रभेद
सेउती शतपत्री प्रभेद शतपत्री प्रभेद
बासरा अन्या प्रभेद अन्या प्रभेद
गेन्दाी अस्थाायी, एकहरा ओ दोहरा; पीयर आ लाल, आसिनसँ फागुन पैघ फूलवता प्रभेद अस्थाायी, एकहरा ओ दोहरा; पीयर आ लाल, आसिनसँ फागुन पैघ फूलवता प्रभेद
गेना अस्थाूयी, एकहरा ओ दोहरा; पीयर आ लाल, आसिनसँ फागुन पैघ फूलवता प्रभेद अस्थाायी, एकहरा ओ दोहरा; पीयर आ लाल, आसिनसँ फागुन पैघ फूलवता प्रभेद
हजारा छोट प्रभेद छोट प्रभेद
गुलहजारा छोट प्रभेद छोट प्रभेद
हजारीगेना छोट प्रभेद छोट प्रभेद
गेनी छोट प्रभेद छोट प्रभेद
गुदावरी। छोट प्रभेद छोट प्रभेद
चन्द्ररकला अस्थारयी गछुली; एकहरा ओ दोहरा; गहूमक बाइल सदृश अषाढ़सँ कातिक अस्थासयी गछुली; एकहरा ओ दोहरा; गहूमक बाइल सदृश अषाढ़सँ कातिक
चन्द्रषकाला अस्थारयी गछुली; एकहरा ओ दोहरा; गहूमक बाइल सदृश अषाढ़सँ कातिक अस्थासयी गछुली; एकहरा ओ दोहरा; गहूमक बाइल सदृश अषाढ़सँ कातिक
सोना चम्पाा। स्थासयी पैघ गछौनी; तीव्र गंधयुक्तय; एकहरा; उज्जरर, जेठसँ भादो सोनाक रंगक प्रभेद- स्थाकयी पैघ गछौनी; तीव्र गंधयुक्त;; एकहरा; उज्जुर, जेठसँ भादो सोनाक रंगक प्रभेद-
चमेली स्थाीयी लत्ती; एकहरा; उज्जीर जेठसँ भादो । स्थाीयी लत्ती; एकहरा; उज्जतर जेठसँ भादो ।
चितउर अस्था यी; एकहरा; उज्जार; कातिकसँ फगुन। अस्था यी; एकहरा; उज्जार; कातिकसँ फगुन।
जटाधारी अस्थारयी; ठढि़या साग सदृश ; जटिल फणा‍कृति; लाल ओ पीयर; कातिकसँ बैसाख। अस्था।यी; ठढि़या साग सदृश ; जटिल फणा‍कृति; लाल ओ पीयर; कातिकसँ बैसाख।
जाफरी अस्था यी; गेनाक आकृतिक मुदा अत्य;न्तग छोट; दोहरा, पीयर ओ गाढ़ लाल; आसिसँ चैत। अस्थालयी; गेनाक आकृतिक मुदा अत्यिन्तद छोट; दोहरा, पीयर ओ गाढ़ लाल; आसिसँ चैत।
गुलजाफरी अस्थाफयी; गेनाक आकृतिक मुदा अत्यपन्तग छोट; दोहरा, पीयर ओ गाढ़ लाल; आसिसँ चैत। अस्थालयी; गेनाक आकृतिक मुदा अत्यिन्तद छोट; दोहरा, पीयर ओ गाढ़ लाल; आसिसँ चैत।
अंग्रेजी गेना अस्थाेयी; गेनाक आकृतिक मुदा अत्यनन्तग छोट; दोहरा, पीयर ओ गाढ़ लाल; आसिसँ चैत। अस्थालयी; गेनाक आकृतिक मुदा अत्यिन्तद छोट; दोहरा, पीयर ओ गाढ़ लाल; आसिसँ चैत।
जूही (सं. युथिका) लत्ती, नाम डंटीयुक्तु, एकहरा; उज्जडर बारहोमास; मधुश्रावणीमे विवाहिता कन्यारलोकनि द्वारा लोढ़ल पत्र-पुष्पाददि विशेषक समूह लत्ती, नाम डंटीयुक्त , एकहरा; उज्जयर बारहोमास; मधुश्रावणीमे विवाहिता कन्यािलोकनि द्वारा लोढ़ल पत्र-पुष्पाकदि विशेषक समूह
जाही-जूही। लत्ती, नाम डंटीयुक्त , एकहरा; उज्जडर बारहोमास; मधुश्रावणीमे विवाहिता कन्‍यालोकनि द्वारा लोढ़ल पत्र-पुष्पा दि विशेषक समूह लत्ती, नाम डंटीयुक्त , एकहरा; उज्जयर बारहोमास; मधुश्रावणीमे विवाहिता कन्यािलोकनि द्वारा लोढ़ल पत्र-पुष्पाकदि विशेषक समूह
तग्गषर स्थाषयी गाछ; एकहरा ओ दोहरा; उज्ज;र; बारहो मास; एकहरा प्रभेद स्थाेयी गाछ; एकहरा ओ दोहरा; उज्जार; बारहो मास; एकहरा प्रभेद
तगर स्थाेयी गाछ; एकहरा ओ दोहरा; उज्ज;र; बारहो मास; एकहरा प्रभेद स्थाेयी गाछ; एकहरा ओ दोहरा; उज्जार; बारहो मास; एकहरा प्रभेद
तगरी स्था यी गाछ; एकहरा ओ दोहरा; उज्ज;र; बारहो मास; एकहरा प्रभेद स्थाेयी गाछ; एकहरा ओ दोहरा; उज्जार; बारहो मास; एकहरा प्रभेद
चिडि़याँ तग्गरर। स्था़यी गाछ; एकहरा ओ दोहरा; उज्ज;र; बारहो मास; एकहरा प्रभेद स्थाेयी गाछ; एकहरा ओ दोहरा; उज्जार; बारहो मास; एकहरा प्रभेद
तीरा समइया छोट गाछ, एकहरा एवं दोहरा, विविध रंग; अषाढ़सँ कातिक। समइया छोट गाछ, एकहरा एवं दोहरा, विविध रंग; अषाढ़सँ कातिक।
तिउरा समइया छोट गाछ, एकहरा एवं दोहरा, विविध रंग; अषाढ़सँ कातिक। समइया छोट गाछ, एकहरा एवं दोहरा, विविध रंग; अषाढ़सँ कातिक।
बालसम समइया छोट गाछ, एकहरा एवं दोहरा, विविध रंग; अषाढ़सँ कातिक। समइया छोट गाछ, एकहरा एवं दोहरा, विविध रंग; अषाढ़सँ कातिक।
थलकमल स्थालयी पैध गछुली; एकहरा एवं दोहरा; आसिनसँ अगहन भोरमे; फुटबाक समय रंग उज्ज;र; प्रकाशमे क्रमहि लाल। स्थाहयी पैध गछुली; एकहरा एवं दोहरा; आसिनसँ अगहन भोरमे; फुटबाक समय रंग उज्जभर; प्रकाशमे क्रमहि लाल।
ढढ़कमल स्थाढयी पैध गछुली; एकहरा एवं दोहरा; आसिनसँ अगहन भोरमे; फुटबाक समय रंग उज्ज;र; प्रकाशमे क्रमहि लाल। स्थाहयी पैध गछुली; एकहरा एवं दोहरा; आसिनसँ अगहन भोरमे; फुटबाक समय रंग उज्जभर; प्रकाशमे क्रमहि लाल।
भूकमल स्थालयी पैध गछुली; एकहरा एवं दोहरा; आसिनसँ अगहन भोरमे; फुटबाक समय रंग उज्ज;र; प्रकाशमे क्रमहि लाल। स्थाहयी पैध गछुली; एकहरा एवं दोहरा; आसिनसँ अगहन भोरमे; फुटबाक समय रंग उज्जभर; प्रकाशमे क्रमहि लाल।
द्ननूफ अस्थाफयी; छोट गाछ; धनखेतीमे; ढेढ़ीमे प्रस्फुेटित, मालभोग चाउरक भात सदृश; फुलयबाक समय-चैत-बैसाख; पितृकर्मक हेतु प्रयुक्तस अस्थाकयी; छोट गाछ; धनखेतीमे; ढेढ़ीमे प्रस्फुीटित, मालभोग चाउरक भात सदृश; फुलयबाक समय-चैत-बैसाख; पितृकर्मक हेतु प्रयुक्तक
दोना अस्थाकयी; छोट गाछ; धनखेतीमे; ढेढ़ीमे प्रस्फुेटित, मालभोग चाउरक भात सदृश; फुलयबाक समय-चैत-बैसाख; पितृकर्मक हेतु प्रयुक्त; अस्थाकयी; छोट गाछ; धनखेतीमे; ढेढ़ीमे प्रस्फुीटित, मालभोग चाउरक भात सदृश; फुलयबाक समय-चैत-बैसाख; पितृकर्मक हेतु प्रयुक्तक
दओना अस्थाकयी; छोट गाछ; धनखेतीमे; ढेढ़ीमे प्रस्फुेटित, मालभोग चाउरक भात सदृश; फुलयबाक समय-चैत-बैसाख; पितृकर्मक हेतु प्रयुक्त; अस्थाकयी; छोट गाछ; धनखेतीमे; ढेढ़ीमे प्रस्फुीटित, मालभोग चाउरक भात सदृश; फुलयबाक समय-चैत-बैसाख; पितृकर्मक हेतु प्रयुक्तक
दोना अस्थाकयी; छोट गाछ; धनखेतीमे; ढेढ़ीमे प्रस्फुेटित, मालभोग चाउरक भात सदृश; फुलयबाक समय-चैत-बैसाख; पितृकर्मक हेतु प्रयुक्त; अस्थाकयी; छोट गाछ; धनखेतीमे; ढेढ़ीमे प्रस्फुीटित, मालभोग चाउरक भात सदृश; फुलयबाक समय-चैत-बैसाख; पितृकर्मक हेतु प्रयुक्तक
कदम्बक अस्थाकयी; छोट गाछ; धनखेतीमे; ढेढ़ीमे प्रस्फुेटित, मालभोग चाउरक भात सदृश; फुलयबाक समय-चैत-बैसाख; पितृकर्मक हेतु प्रयुक्त; अस्थाकयी; छोट गाछ; धनखेतीमे; ढेढ़ीमे प्रस्फुीटित, मालभोग चाउरक भात सदृश; फुलयबाक समय-चैत-बैसाख; पितृकर्मक हेतु प्रयुक्तक
गुम्मा् अस्थाायी; छोट गाछ; धनखेतीमे; ढेढ़ीमे प्रस्फुेटित, मालभोग चाउरक भात सदृश; फुलयबाक समय-चैत-बैसाख; पितृकर्मक हेतु प्रयुक्तश अस्थाायी; छोट गाछ; धनखेतीमे; ढेढ़ीमे प्रस्फुीटित, मालभोग चाउरक भात सदृश; फुलयबाक समय-चैत-बैसाख; पितृकर्मक हेतु प्रयुक्तक
दुपहरिया अस्थाियी लत्ती; एकहरा; लाल, उज्जतर ओ पीयर; साओनसँ बैसाख अस्थाँयी लत्ती; एकहरा; लाल, उज्जार ओ पीयर; साओनसँ बैसाख
दिनदुपहरिया अस्थाँयी लत्ती; एकहरा; लाल, उज्जतर ओ पीयर; साओनसँ बैसाख अस्थाँयी लत्ती; एकहरा; लाल, उज्जार ओ पीयर; साओनसँ बैसाख
सजीवनबूटी अस्थाबयी लत्ती; एकहरा; लाल, उज्जतर ओ पीयर; साओनसँ बैसाख अस्थाँयी लत्ती; एकहरा; लाल, उज्जार ओ पीयर; साओनसँ बैसाख
लक्ष्म णबूटी अस्थामयी लत्ती; एकहरा; लाल, उज्जतर ओ पीयर; साओनसँ बैसाख अस्थाँयी लत्ती; एकहरा; लाल, उज्जार ओ पीयर; साओनसँ बैसाख
धथूर अस्थाँयी; पिपही जकाँ नाम, एकहरा; उज्जार; बारहोमास; दोहरा प्रभेद, श्याामवर्ण। अस्थादयी; पिपही जकाँ नाम, एकहरा; उज्जएर; बारहोमास; दोहरा प्रभेद, श्याामवर्ण।
धुथूर अस्था यी; पिपही जकाँ नाम, एकहरा; उज्जार; बारहोमास; दोहरा प्रभेद, श्याामवर्ण। अस्थादयी; पिपही जकाँ नाम, एकहरा; उज्जएर; बारहोमास; दोहरा प्रभेद, श्याामवर्ण।
धुतहुर अस्थारयी; पिपही जकाँ नाम, एकहरा; उज्जार; बारहोमास; दोहरा प्रभेद, श्याामवर्ण । अस्थादयी; पिपही जकाँ नाम, एकहरा; उज्जएर; बारहोमास; दोहरा प्रभेद, श्याामवर्ण ।
धतुरा अस्था यी; पिपही जकाँ नाम, एकहरा; उज्जार; बारहोमास; दोहरा प्रभेद, श्याामवर्ण । अस्थादयी; पिपही जकाँ नाम, एकहरा; उज्जएर; बारहोमास; दोहरा प्रभेद, श्‍यामवर्ण ।
नककेसर अस्थारयी गछुली; एकहरा; लाल, पीयर ओ उज्ज र; पूस-माघ। अस्थाजयी गछुली; एकहरा; लाल, पीयर ओ उज्जखर; पूस-माघ।
नागकेसर अस्थासयी गछुली; एकहरा; लाल, पीयर ओ उज्जरर; पूस-माघ। अस्थाजयी गछुली; एकहरा; लाल, पीयर ओ उज्जखर; पूस-माघ।
नागेसर अस्थारयी गछुली; एकहरा; लाल, पीयर ओ उज्ज र; पूस-माघ। अस्थाजयी गछुली; एकहरा; लाल, पीयर ओ उज्जखर; पूस-माघ।
नागेश्वउर अस्था्यी गछुली; एकहरा; लाल, पीयर ओ उज्जवर; पूस-माघ। अस्थाजयी गछुली; एकहरा; लाल, पीयर ओ उज्जखर; पूस-माघ।
नेबार (सं. नवमल्लिका), प्राचीन शब्द. लेवारि (वर्ण); स्थावयी एकहरा; पियररौंछ; चैत। (सं. नवमल्लिका), प्राचीन शब्द. लेवारि (वर्ण); स्थारयी एकहरा; पियररौंछ; चैत।
नेबारि (सं. नवमल्लिका), प्राचीन शब्द. लेवारि (वर्ण); स्था यी एकहरा; पियररौंछ; चैत। (सं. नवमल्लिका), प्राचीन शब्द. लेवारि (वर्ण); स्‍थायी एकहरा; पियररौंछ; चैत।
नेबारी (सं. नवमल्लिका), प्राचीन शब्द. लेवारि (वर्ण); स्था यी एकहरा; पियररौंछ; चैत। (सं. नवमल्लिका), प्राचीन शब्द. लेवारि (वर्ण); स्थारयी एकहरा; पियररौंछ; चैत।
पनसुतिया स्थातयी गाछ; एकहरा; लाल, पीयर; कातिकसँ पूस। स्थातयी गाछ; एकहरा; लाल, पीयर; कातिकसँ पूस।
बकायन स्थानयी विशाल गाछ; एकहरा; उज्जार; आसिनसँ अगहन। स्थासयी विशाल गाछ; एकहरा; उज्जसर; आसिनसँ अगहन।
बसन्तँ स्थातयी गछौनी; झाड़ी सदृश; नाम डंटीयुक्त ; एकहरा; उज्जडर; अगहन-पूस स्थाायी गछौनी; झाड़ी सदृश; नाम डंटीयुक्तश; एकहरा; उज्जयर; अगहन-पूस
बसन्तीक स्थातयी गछौनी; झाड़ी सदृश; नाम डंटीयुक्त ; एकहरा; उज्जडर; अगहन-पूस स्थाायी गछौनी; झाड़ी सदृश; नाम डंटीयुक्तश; एकहरा; उज्जयर; अगहन-पूस
कुन्दु स्थादयी गछौनी; झाड़ी सदृश; नाम डंटीयुक्त ; एकहरा; उज्जडर; अगहन-पूस स्थाायी गछौनी; झाड़ी सदृश; नाम डंटीयुक्तश; एकहरा; उज्जयर; अगहन-पूस
बंसीप्रेम काँटयुक्त गछुली; एकहरा; मध्युमे सूंघ; दल कटोरी सदुश; लाल, पीयर । काँटयुक्त गछुली; एकहरा; मध्युमे सूंघ; दल कटोरी सदुश; लाल, पीयर ।
बंसीवट काँटयुक्त गछुली; एकहरा; मध्युमे सूंघ; दल कटोरी सदुश; लाल, पीयर । काँटयुक्त गछुली; एकहरा; मध्युमे सूंघ; दल कटोरी सदुश; लाल, पीयर ।
बेला (सं. विचकिल) स्था यी छोटी लत्ती सदृश गाछ; एकहरा एवं दोहरा; उज्जार; बैसाखसँ भादो स्थाखयी छोटी लत्ती सदृश गाछ; एकहरा एवं दोहरा; उज्जार; बैसाखसँ भादो
मोतिया बेला गोल ओ पैघ फूलवता प्रभेद गोल ओ पैघ फूलवता प्रभेद
हथदन्ताप नाम डंटीवला प्रभेद नाम डंटीवला प्रभेद
हाथीदाँत बेला नाम डंटीवला प्रभेद नाम डंटीवला प्रभेद
बेली छोट फूलवला प्रभेद छोट फूलवला प्रभेद
कठबेली छोट फूलवला प्रभेद छोट फूलवला प्रभेद
टकबेल छोट फूलवला प्रभेद छोट फूलवला प्रभेद
भालसरी (सं. वकुल), स्थाबयी पैघ गाछ; दोहरा; डंटीविहीन पुष्पे; मैलछोन; भादो। (सं. वकुल), स्थासयी पैघ गाछ; दोहरा; डंटीविहीन पुष्पं; मैलछोन; भादो।
भेंट जलोदभव; कुमुद सदृश मुदा छोट; उज्जदर; आसिन कातिकक रात्रि। जलोदभव; कुमुद सदृश मुदा छोट; उज्ज र; आसिन कातिकक रात्रि।
मलकोका जलोद्भव; कुमुद सदृश मुदा छोट; उज्जदर; आसिन-कातिकक रात्रि। जलोद्भव; कुमुद सदृश मुदा छोट; उज्ज र; आसिन-कातिकक रात्रिा
मधुरी (सं. बन्धूजक) छोट गछुली; एकहरा; उनटल कटोरी सदृश; आलरंग; धनखेतीमे; कालिक-अगहनक रात्रि काल। (सं. बन्धूकक) छोट गछुली; एकहरा; उनटल कटोरी सदृश; आलरंग; धनखेतीमे; कालिक-अगहनक रात्रि काल।
मालती स्थाीयी लत्ती; छोट एकहरा; हल्काी; उज्जार; फागुन-चैत। स्थाायी लत्ती; छोट एकहरा; हल्काी; उज्जार; फागुन-चैत।
माधवी स्थाीयी लत्ती; झब्बाजदार, एकहरा; नाम डंटीयुक्त ; लाल दल ओ उज्जयर डंटीसँ युक्त्; भरि साल। स्थासयी लत्ती; झब्बाादार, एकहरा; नाम डंटीयुक्ता; लाल दल ओ उज्जदर डंटीसँ युक्तल; भरि साल।
लवङलता अस्थाायी अत्य न्त‍ पातर पातवला लत्ती; अत्ययन्तत सूक्ष्मल, लौंग सदृश लाल रंगक फूल; फागुन-चैत। अस्था्यी अत्य न्तन पातर पातवला लत्ती; अत्ययन्तन सूक्ष्मत, लौंग सदृश लाल रंगक फूल; फागुन-चैत।
लवङलती अस्थाीयी अत्य न्त पातर पातवला लत्ती; अत्ययन्तत सूक्ष्मल, लौंग सदृश लाल रंगक फूल; फागुन-चैत। अस्थाफयी अत्यान्तच पातर पातवला लत्ती; अत्‍यन्तच सूक्ष्मत, लौंग सदृश लाल रंगक फूल; फागुन-चैत।
सिङ्हार स्थाहयी पैघ गछुली; पीयर डंटीयुक्तय, उज्जशर, छोट, एकहरा फूल; अगहनक रात्रि काल। स्थाकयी पैघ गछुली; पीयर डंटीयुक्त , उज्ज;र, छोट, एकहरा फूल; अगहनक रात्रि काल।
सिङ्हारा स्थाहयी पैघ गछुली; पीयर डंटीयुक्तघ, उज्जजर, छोट, एकहरा फूल; अगहनक रात्रि काल। स्थाकयी पैघ गछुली; पीयर डंटीयुक्त , उज्ज;र, छोट, एकहरा फूल; अगहनक रात्रि काल।
सिङरहार स्थाहयी पैघ गछुली; पीयर डंटीयुक्तय, उज्जअर, छोट, एकहरा फूल; अगहनक रात्रि काल। स्थाकयी पैघ गछुली; पीयर डंटीयुक्त , उज्ज;र, छोट, एकहरा फूल; अगहनक रात्रि काल।
सिङरहारा स्थाहयी पैघ गछुली; पीयर डंटीयुक्तय, उज्जअर, छोट, एकहरा फूल; अगहनक रात्रि काल। स्थाकयी पैघ गछुली; पीयर डंटीयुक्त , उज्ज;र, छोट, एकहरा फूल; अगहनक रात्रि काल।
सुदर्शन स्था्यी गछूली; नाम; तीव्र सुगन्धथयुक्तज फूल ;एकहरा; उज्जलर; भादोसँ माघ। स्थासयी गछूली; नाम; तीव्र सुगन्ध युक्तव फूल ;एकहरा; उज्जतर; भादोसँ माघ।
सूर्यमुखी अस्थामयी; सूर्यक गोला सद़श चारू कात पीयर दल; बारहो मास। अस्थाचयी; सूर्यक गोला सद़श चारू कात पीयर दल; बारहो मास।
सौनौली स्थालयी गछौनी; एकहरा; टुइयाँ; सदृश; सोनाक रंग; जेठसँ भादो। स्था।यी गछौनी; एकहरा; टुइयाँ; सदृश; सोनाक रंग; जेठसँ भादो।
सनहुल स्थालयी गछौनी; एकहरा; टुइयाँ; सदृश; सोनाक रंग; जेठसँ भादो। स्था।यी गछौनी; एकहरा; टुइयाँ; सदृश; सोनाक रंग; जेठसँ भादो।
सोनहुल स्थाुयी गछौनी; एकहरा; टुइयाँ; सदृश; सोनाक रंग; जेठसँ भादो। स्था।यी गछौनी; एकहरा; टुइयाँ; सदृश; सोनाक रंग; जेठसँ भादो।
सोनहुली स्थाुयी गछौनी; एकहरा; टुइयाँ; सदृश; सोनाक रंग; जेठसँ भादो। स्था।यी गछौनी; एकहरा; टुइयाँ; सदृश; सोनाक रंग; जेठसँ भादो।
संझा अस्था यी; एकहरा; लाल; पीयर, उज्जजर; चैतसँ आसिन। अस्था यी; एकहरा; लाल; पीयर, उज्जार; चैतसँ आसिन।
लंकेश्वसर अस्था्यी; एकहरा; लाल; पीयर, उज्ज;र; चैतसँ आसिन। अस्था यी; एकहरा; लाल; पीयर, उज्जार; चैतसँ आसिन।
हुसैना स्थानयी गछौनी; सूत सन पातर डंटी; गुच्छारमे फुलायवला; श्वेछतवर्ण; चैत, अषाढ़ ओ कातिकक रात्रिकाल। स्थारयी गछौनी; सूत सन पातर डंटी; गुच्छावमे फुलायवला; श्वेयतवर्ण; चैत, अषाढ़ ओ कातिकक रात्रिकाल।
हेना स्था यी गछौनी; सूत सन पातर डंटी; गुच्छारमे फुलायवला; श्वेछतवर्ण; चैत, अषाढ़ ओ कातिकक रात्रिकाल। स्थारयी गछौनी; सूत सन पातर डंटी; गुच्छावमे फुलायवला; श्वेयतवर्ण; चैत, अषाढ़ ओ कातिकक रात्रिकाल।
हुस्निहेना स्थानयी गछौनी; सूत सन पातर डंटी; गुच्छारमे फुलायवला; श्वेछतवर्ण; चैत, अषाढ़ ओ कातिकक रात्रिकाल। स्थारयी गछौनी; सूत सन पातर डंटी; गुच्छावमे फुलायवला; श्वेयतवर्ण; चैत, अषाढ़ ओ कातिकक रात्रिकाल।
रात के रानी स्थाकयी गछौनी; सूत सन पातर डंटी; गुच्छारमे फुलायवला; श्वेछतवर्ण; चैत, अषाढ़ ओ कातिकक रात्रिकाल। स्थारयी गछौनी; सूत सन पातर डंटी; गुच्छावमे फुलायवला; श्वेयतवर्ण; चैत, अषाढ़ ओ कातिकक रात्रिकाल।
रजनीगंधा स्थागयी गछौनी; सूत सन पातर डंटी; गुच्छारमे फुलायवला; श्वेछतवर्ण; चैत, अषाढ़ ओ कातिकक रात्रिकाल। स्थारयी गछौनी; सूत सन पातर डंटी; गुच्छावमे फुलायवला; श्वेयतवर्ण; चैत, अषाढ़ ओ कातिकक रात्रिकाल।
बेलपत्र शंकर भगवाक पूजामे विशेष रूपें व्यमवहृत बेल नामक फलवृक्षक पातकेँ शंकर भगवाक पूजामे विशेष रूपें व्यावहृत बेल नामक फलवृक्षक पातकेँ
बेलपात शंकर भगवाक पूजामे विशेष रूपें व्यमवहृत बेल नामक फलवृक्षक पातकेँ शंकर भगवाक पूजामे विशेष रूपें व्यावहृत बेल नामक फलवृक्षक पातकेँ
रामतुलसी हरियार पातावला तुलसीक प्रभेद हरियार पातावला तुलसीक प्रभेद
चननतुलसी हरियार पातावला तुलसीक प्रभेद हरियार पातावला तुलसीक प्रभेद
श्याीमतुलसी कारी पातवला प्रभेद कारी पातवला प्रभेद
बनतुलसी जंगल-झाड़मे उत्पान्नर होमऽवला प्रभेद जंगल-झाड़मे उत्पवन्नम होमऽवला प्रभेद
जैंत अपन फुलबाड़ीक घेराक हेतु मालि अपन फुलबाड़ीक घेराक हेतु मालि
नागफेनी अपन फुलबाड़ीक घेराक हेतु मालि अपन फुलबाड़ीक घेराक हेतु मालि
बगेयाक अपन फुलबाड़ीक घेराक हेतु मालि अपन फुलबाड़ीक घेराक हेतु मालि
पसीझ काँट काँट
फरहद काँट काँट
सिनुआरि काँट काँट
बालछड़ी काँट काँट
गनियारि मालिक फुलवाड़ीमे औषधीय गुणसँ युक्तो किछु गाछ सेहो लगाओल रहैत छैक जेना मालिक फुलवाड़ीमे औषधीय गुणसँ युक्त किछु गाछ सेहो लगाओल रहैत छैक जेना
गेठबन मालिक फुलवाड़ीमे औषधीय गुणसँ युक्तो किछु गाछ सेहो लगाओल रहैत छैक जेना मालिक फुलवाड़ीमे औषधीय गुणसँ युक्त किछु गाछ सेहो लगाओल रहैत छैक जेना
गेठिया मालिक फुलवाड़ीमे औषधीय गुणसँ युक्तो किछु गाछ सेहो लगाओल रहैत छैक जेना मालिक फुलवाड़ीमे औषधीय गुणसँ युक्त किछु गाछ सेहो लगाओल रहैत छैक जेना
घीकुमारि मालिक फुलवाड़ीमे औषधीय गुणसँ युक्तो किछु गाछ सेहो लगाओल रहैत छैक जेना मालिक फुलवाड़ीमे औषधीय गुणसँ युक्त किछु गाछ सेहो लगाओल रहैत छैक जेना
पथलचूड़ मालिक फुलवाड़ीमे औषधीय गुणसँ युक्तो किछु गाछ सेहो लगाओल रहैत छैक जेना मालिक फुलवाड़ीमे औषधीय गुणसँ युक्त किछु गाछ सेहो लगाओल रहैत छैक जेना
मन्त रा मालिक फुलवाड़ीमे औषधीय गुणसँ युक्तो किछु गाछ सेहो लगाओल रहैत छैक जेना मालिक फुलवाड़ीमे औषधीय गुणसँ युक्त किछु गाछ सेहो लगाओल रहैत छैक जेना
मएन सिन्दूैर ओ पिठारक दागसँ युक्तन अरिकोंछ सदुश मु‍दा अत्यरन्तत पैध पातवला एकटा कंदोद्भव गाछ मधुश्रावणीमे प्रयोजनीय होइत छैक। एकहरा सिन्दूैर ओ पिठारक दागसँ युक्तक अरिकोंछ सदुश मु‍दा अत्य न्तद पैध पातवला एकटा कंदोद्भव गाछ मधुश्रावणीमे प्रयोजनीय होइत छैक। एकहरा
मएना सिन्दूकर ओ पिठारक दागसँ युक्तो अरिकोंछ सदुश मु‍दा अत्यरन्तत पैध पातवला एकटा कंदोद्भव गाछ मधुश्रावणीमे प्रयोजनीय होइत छैक। एकहरा सिन्दूैर ओ पिठारक दागसँ युक्तक अरिकोंछ सदुश मु‍दा अत्य न्तद पैध पातवला एकटा कंदोद्भव गाछ मधुश्रावणीमे प्रयोजनीय होइत छैक। एकहरा
ढाक दग्गीएविहीन पातवला एही प्रकारक अन्यह वृक्षकेँ दग्गीकविहीन पातवला एही प्रकारक अन्य वृक्षकेँ
पौंछ मालीक आनुषंगिक आधार अछि केराक गाछ1 केराक छोट गाछकेँ मालीक आनुषंगिक आधार अछि केराक गाछ1 केराक छोट गाछकेँ
थम्भक केराक गाछक धड़केँ केराक गाछक धड़केँ
थम्हे केराक गाछक धड़केँ केराक गाछक धड़केँ
बखोड़ थम्ह़क अनेक परतदार छालकेँ थम्हेक अनेक परतदार छालकेँ
बखोड़ा थम्ह़क अनेक परतदार छालकेँ थम्हेक अनेक परतदार छालकेँ
बखोड़ैया थम्ह़क अनेक परतदार छालकेँ थम्हेक अनेक परतदार छालकेँ
डपौ बखोड़ाक प्रत्येअककेँ बखोड़ाक प्रत्येअककँँ
डपउ बखोड़ाक प्रत्येअककेँ बखोड़ाक प्रत्येअककँँ
(डपोर (ड़) बखोड़ाक प्रत्येअककेँ बखोड़ाक प्रत्येअककँँ
डपौर (ड़) बखोड़ाक प्रत्येअककेँ बखोड़ाक प्रत्येअककँँ
पटेर डपोर सुखलापर छीतिकऽ ओकर उपरका भागसँ बनल तागक सदृश वस्तुतकेँ डपोर सुखलापर छीतिकऽ ओकर उपरका भागसँ बनल तागक सदृश वस्तुाकेँ
कोढि़ला मालिक जातीय व्यिवसायमेग देवस्थायनमे चढ़बाक एकटा वस्तुम-विशेष मालिक जातीय व्यिवसायमेग देवस्थाानमे चढ़बाक एकटा वस्तुय-विशेष
रकसी रोगाह कोढि़लाक भीतरी भागमे ललौन दग्गीीकेँ रोगाह कोढि़लाक भीतरी भागमे ललौन दग्गीेकेँ
खुर्पा गँहीर धरि माटि कोड़बाक हेतु नाम फल आ बेँटसँ युक्त खुर्पीकेँ गँहीर धरि माटि कोड़बाक हेतु नाम फल आ बेँटसँ युक्तब खुर्पीकेँ
रम्भाब गँहीर धरि माटि कोड़बाक हेतु नाम फल आ बेँटसँ युक्ता खुर्पीकेँ गँहीर धरि माटि कोड़बाक हेतु नाम फल आ बेँटसँ युक्तब खुर्पीकेँ
खुर्पी गँहीर धरि माटि कोड़बाक हेतु नाम फल आ बेँटसँ युक्तह खुर्पीकेँ गँहीर धरि माटि कोड़बाक हेतु नाम फल आ बेँटसँ युक्तब खुर्पीकेँ
सुम्हाे खुर्पी गँहीर धरि माटि कोड़बाक हेतु नाम फल आ बेँटसँ युक्ता खुर्पीकेँ गँहीर धरि माटि कोड़बाक हेतु नाम फल आ बेँटसँ युक्तब खुर्पीकेँ
गुलकैंची फूलक गाछक अतिरिक्तक भागाकेँ छँटबाक हेतु लोहक कैंचीक व्युवहार होइत छैक। छोट कैंचीकेँ फूलक गाछक अतिरिक्तक भागाकेँ छँटबाक हेतु लोहक कैंचीक व्यकवहार होइत छैक। छोट कैंचीकेँ
झाँझ फुलवारीमे पानि पटबाक हेतु लोहक बाल्टीहक प्रभेद जाहिमे अग्रभागमे अनेक छिद्रसँ युक्तर एकटा टोंटी लागल रहैत छैक, से फुलवारीमे पानि पटबाक हेतु लोहक बाल्टीहक प्रभेद जाहिमे अग्रभागमे अनेक छिद्रसँ युक्तछ एकटा टोंटी लागल रहैत छैक, से
गमला फूल लगयबाक हेतु माटिक गँहीर बासनकेँ फूल लगयबाक हेतु माटिक गँहीर बासनकेँ
घमला फूल लगयबाक हेतु माटिक गँहीर बासनकेँ फूल लगयबाक हेतु माटिक गँहीर बासनकेँ
फुलडाली तोड़ल फूलकेँ बाँस अथवा धातुक डंटी लागल पात्रमे राखल जाइत छैक। एकरा तोड़ल फूलकेँ बाँस अथवा धातुक डंटी लागल पात्रमे राखल जाइत छैक। एकरा
फुलबसना तोड़ल फूलकेँ बाँस अथवा धातुक डंटी लागल पात्रमे राखल जाइत छैक। एकरा तोड़ल फूलकेँ बाँस अथवा धातुक डंटी लागल पात्रमे राखल जाइत छैक। एकरा
फुलझोड़ा कपड़ाकेँ मोडि़ कऽ बनाओल फूल रखबाक धोकड़ीकेँ कपड़ाकेँ मोडि़ कऽ बनाओल फूल रखबाक धोकड़ीकेँ
सीकी माला गँथबाक हेतु खऽढ़क पातर भागकेँ मोडि़ कऽ बनाओल फूल रनखबाक धोकड़ीकेँ माला गँथबाक हेतु खऽढ़क पातर भागकेँ मोडि़ कऽ बनाओल फूल रनखबाक धोकड़ीकेँ
सूइ एही कार्यक हेतु लोहक अत्यकन्तल पातर पासयुक्त‍ छड़केँ एही कार्यक हेतु लोहक अत्यकन्त़ पातर पासयुक्तत छड़केँ
सुइया एही कार्यक हेतु लोहक अत्यकन्तल पातर पासयुक्त‍ छड़केँ एही कार्यक हेतु लोहक अत्यकन्त़ पातर पासयुक्तत छड़केँ
हाँसू कोढि़लाकेँ पानिसँ कटबाक हेतु मालीक लोहक दाँतयुक्तत औजार कोढि़लाकेँ पानिसँ कटबाक हेतु मालीक लोहक दाँतयुक्तक औजार
कचिया हाँसू कोढि़लाकेँ पानिसँ कटबाक हेतु मालीक लोहक दाँतयुक्ती औजार कोढि़लाकेँ पानिसँ कटबाक हेतु मालीक लोहक दाँतयुक्तक औजार
छूरी कोढि़लाकेँ छिलबाक हेतु नाम कत्ता सदृश औजारकेँ कोढि़लाकेँ छिलबाक हेतु नाम कत्ता सदृश औजारकेँ
चक्कूे कोढि़लाकेँ छिलबाक हेतु नाम कत्ता सदृश औजारकेँ कोढि़लाकेँ छिलबाक हेतु नाम कत्ता सदृश औजारकेँ
कतरब उपरे-उपरे छीलिकऽ पातर परत कटबाक क्रिया उपरे-उपरे छीलिकऽ पातर परत कटबाक क्रिया
गाँथब लोढ़ल फूलकेँ परस्पीर सम्बलद्ध कऽ छड़क आकृति प्रदान करबाक क्रिया लोढ़ल फूलकेँ परस्प र सम्बकद्ध कऽ छड़क आकृति प्रदान करबाक क्रिया
लड़ गाँथल फूलक छड़केँ गाँथल फूलक छड़केँ
लड़ी गाँथल फूलक छड़केँ गाँथल फूलक छड़केँ
कुर्सी मुसलमानलोकनि मालाक हेतु मुसलमानलोकनि मालाक हेतु
पतौड़ा फूल ओ मालाकेँ बैजन्त्री, केरा अथवा अंडीक पातमे लपेटि पटेरसँ बान्हलल जाइत छैक। एहिसँ बनल पुडि़याकेँ फूल ओ मालाकेँ बैजन्त्री, केरा अथवा अंडीक पातमे लपेटि पटेरसँ बान्हपल जाइत छैक। एहिसँ बनल पुडि़याकेँ
पतौड़ी छोट पतौड़ाकेँ छोट पतौड़ाकेँ
बन्हात पतौड़ा बन्हेबाक हेतु प्रयुक्तन खजूरक पातकेँ चीरि कऽ बनाओल ताग सदृश वस्त केँ पतौड़ा बन्ह्बाक हेतु प्रयुक्त खजूरक पातकेँ चीरि कऽ बनाओल ताग सदृश वस्त केँ
ठर्रा माला ताग अथवा पेटरमे फूलसँ निर्मित मालाकेँ ताग अथवा पेटरमे फूलसँ निर्मित मालाकेँ
कंठा ठर्रा मालाक मध्यलवर्ती भागमे कयल मोट गँथाइकेँ ठर्रा मालाक मध्यावर्ती भागमे कयल मोट गँथाइकेँ
फुदना कंठा लग लटकैत फूलक समूहकेँ कंठा लग लटकैत फूलक समूहकेँ
हथफनुआँ पटेरमे दूर-दूरपर बान्हेल फूलक मालाकेँ पटेरमे दूर-दूरपर बान्हेल फूलक मालाकेँ
फान हथफनुआँक दूटा फूलक बीचक दूरीकेँ हथफनुआँक दूटा फूलक बीचक दूरीकेँ
फानी हथफनुआँक दूटा फूलक बीचक दूरीकेँ हथफनुआँक दूटा फूलक बीचक दूरीकेँ
गिरौआ माला फूलक डंटीकेँ गँथलासँ फूलक डंटीकेँ गँथलासँ
पचफुल्लीी चारि फूल गिरौआ आ एकटा फूल ठर्रा गँथलापर बनल मालाकेँ चारि फूल गिरौआ आ एकटा फूल ठर्रा गँथलापर बनल मालाकेँ
छल्लाा पचफुल्ली‍क प्रत्येाक पाँच फुलक समूहकेँ पचफुल्लीकक प्रत्येीक पाँच फुलक समूहकेँ
छल्ली पचफुल्लीपक प्रत्ये क पाँच फुलक समूहकेँ पचफुल्लीकक प्रत्येीक पाँच फुलक समूहकेँ
गजरा घन कऽ गाँथल मालाकेँ घन कऽ गाँथल मालाकेँ
कग्गकन हाथमे पहिरबाक गजराकेँ हाथमे पहिरबाक गजराकेँ
बाजू बाँहिक गजराकेँ बाँहिक गजराकेँ
मङटीका सिउंथपरक गजाराकेँ सिउंथपरक गजाराकेँ
कनडोला पहिरबाक हेतु प्रयुक्ते गजराकेँ हँसुली ओ कानमे पहिरबाक हेतु प्रयुक्ति छोट सन मालाकेँ पहिरबाक हेतु प्रयुक्तह गजराकेँ हँसुली ओ कानमे पहिरबाक हेतु प्रयुक्तह छोट सन मालाकेँ
कननडोला पहिरबाक हेतु प्रयुक्त गजराकेँ हँसुली ओ कानमे पहिरबाक हेतु प्रयुक्तम छोट सन मालाकेँ पहिरबाक हेतु प्रयुक्तह गजराकेँ हँसुली ओ कानमे पहिरबाक हेतु प्रयुक्तह छोट सन मालाकेँ
सेहला मुसलमानलोकनिक विआमे प्रयुक्तव विशेष प्रकारक मालाकेँ मुसलमानलोकनिक विआमे प्रयुक्तव विशेष प्रकारक मालाकेँ
घुंघरू एहिमे माथपर तीनटा लड मुँहक आगू लटकैत चारि-पाँचटा लड़ आ दूनू हाथ ओ पीठकेँ सम्ब द्ध करैत एकटा माला रहैत छैक। आगू दिस लटकैत लड़केँ एहिमे माथपर तीनटा लड मुँहक आगू लटकैत चारि-पाँचटा लड़ आ दूनू हाथ ओ पीठकेँ सम्बओद्ध करैत एकटा माला रहैत छैक। आगू दिस लटकैत लड़केँ
रोआं ओकर धड़क मोट भागकेँ सुखाकऽ एकत्र कऽ देल जाइत छैक। एहि वस्तुइकेँ ओकर धड़क मोट भागकेँ सुखाकऽ एकत्र कऽ देल जाइत छैक। एहि वस्तुछकेँ
टोनी धड़केँ अनेकश: खण्डित कयलासँ बनल टुकड़ी सभ धड़केँ अनेकश: खण्डित कयलासँ बनल टुकड़ी सभ
गुल्लीक धड़केँ अनेकश: खण्डित कयलासँ बनल टुकड़ी सभ धड़केँ अनेकश: खण्डित कयलासँ बनल टुकड़ी सभ
खोइया गुल्लीककेँ परित- खण्डित कयलासँ उपरका मैलछौन परतकेँ गुल्ली केँ परित- खण्डित कयलासँ उपरका मैलछौन परतकेँ
आकठ गुल्लीमकेँ परित- खण्डित कयलासँ उपरका मैलछौन परतकेँ गुल्ली केँ परित- खण्डित कयलासँ उपरका मैलछौन परतकेँ
पत्ता गद्दावाला भागक पातर परतकेँ गद्दावाला भागक पातर परतकेँ
बीड़ गद्दावाला भागक पातर परतकेँ गद्दावाला भागक पातर परतकेँ
कागज गद्दावाला भागक पातर परतकेँ गद्दावाला भागक पातर परतकेँ
हरैया कतरलाक बाद गुल्लीतक पातर अवशेषकेँ कतरलाक बाद गुल्ली क पातर अवशेषकेँ
हट्ठी कतरलाक बाद गुल्लीाक पातर अवशेषकेँ कतरलाक बाद गुल्ली क पातर अवशेषकेँ
बीअनि कोढि़लाक कागतकेँ चकुला-बेलनाक सहायतासँ समतल कऽ मांगलिक अवसरपर उपयोगी कोढि़लाक कागतकेँ चकुला-बेलनाक सहायतासँ समतल कऽ मांगलिक अवसरपर उपयोगी
कोनिञा कोढि़लाक कागतकेँ चकुला-बेलनाक सहायतासँ समतल कऽ मांगलिक अवसरपर उपयोगी कोढि़लाक कागतकेँ चकुला-बेलनाक सहायतासँ समतल कऽ मांगलिक अवसरपर उपयोगी
थोपा कोढि़लाक कागाजकेँ बेलनाकार मोडि़ अनेकश: खण्डित कयल अतयन्तो कम चाकर टुकड़ीक समूहसँु बनल गोलाकार वस्तुसकेँ कोढि़लाक कागाजकेँ बेलनाकार मोडि़ अनेकश: खण्डित कयल अतयन्तो कम चाकर टुकड़ीक समूहसँु बनल गोलाकार वस्तुोकेँ
गेन्दो कोढि़लाक कागाजकेँ बेलनाकार मोडि़ अनेकश: खण्डित कयल अतयन्तो कम चाकर टुकड़ीक समूहसँ बनल गोलाकार वस्तुसकेँ कोढि़लाक कागाजकेँ बेलनाकार मोडि़ अनेकश: खण्डित कयल अतयन्तर कम चाकर टुकड़ीक समूहसँ बनल गोलाकार वस्तुोकेँ
गेन कोढि़लाक कागाजकेँ बेलनाकार मोडि़ अनेकश: खण्डित कयल अतयन्तो कम चाकर टुकड़ीक समूहसँ बनल गोलाकार वस्तुसकेँ कोढि़लाक कागाजकेँ बेलनाकार मोडि़ अनेकश: खण्डित कयल अतयन्तो कम चाकर टुकड़ीक समूहसँ बनल गोलाकार वस्तुोकेँ
मौड़ कोढि़लाक कागतसँ बनल देवस्थागनमे चढ़बाक छतरीक आकृतिक वस्तु केँ कोढि़लाक कागतसँ बनल देवस्थागनमे चढ़बाक छतरीक आकृतिक वस्तु केँ
गेउर छोट मौड़केँ छोट मौड़केँ
गेरुआ छोट मौड़केँ छोट मौड़केँ
गेरुली छोट मौड़केँ छोट मौड़केँ
कचनार मौड़मे लगयबाक कोढि़लाक कागतक दू आङुर चाकर ओ छओ आङुर नाम युगल खंडके परस्पगर मध्येभागमे समकोण पर सम्बरद्ध कयलासँ बनल वस्तु्‍केँ मौड़मे लगयबाक कोढि़लाक कागतक दू आङुर चाकर ओ छओ आङुर नाम युगल खंडके परस्पखर मध्यपभागमे समकोण पर सम्बणद्ध कयलासँ बनल वस्तुस‍केँ
सूगा मौड़मे लागल कोढि़लाक पछीक आकृतिकेँ मौड़मे लागल कोढि़लाक पछीक आकृतिकेँ
फुरफूरी सूगाकेँ मौड़मे गँथबाक हेतु व्यमवहृत बाँसक पातर कमचीकेँ सूगाकेँ मौड़मे गँथबाक हेतु व्यबवहृत बाँसक पातर कमचीकेँ

No comments:

Post a Comment

"विदेह" प्रथम मैथिली पाक्षिक ई पत्रिका http://www.videha.co.in/:-
सम्पादक/ लेखककेँ अपन रचनात्मक सुझाव आ टीका-टिप्पणीसँ अवगत कराऊ, जेना:-
1. रचना/ प्रस्तुतिमे की तथ्यगत कमी अछि:- (स्पष्ट करैत लिखू)|
2. रचना/ प्रस्तुतिमे की कोनो सम्पादकीय परिमार्जन आवश्यक अछि: (सङ्केत दिअ)|
3. रचना/ प्रस्तुतिमे की कोनो भाषागत, तकनीकी वा टंकन सम्बन्धी अस्पष्टता अछि: (निर्दिष्ट करू कतए-कतए आ कोन पाँतीमे वा कोन ठाम)|
4. रचना/ प्रस्तुतिमे की कोनो आर त्रुटि भेटल ।
5. रचना/ प्रस्तुतिपर अहाँक कोनो आर सुझाव ।
6. रचना/ प्रस्तुतिक उज्जवल पक्ष/ विशेषता|
7. रचना प्रस्तुतिक शास्त्रीय समीक्षा।

अपन टीका-टिप्पणीमे रचना आ रचनाकार/ प्रस्तुतकर्ताक नाम अवश्य लिखी, से आग्रह, जाहिसँ हुनका लोकनिकेँ त्वरित संदेश प्रेषण कएल जा सकय। अहाँ अपन सुझाव ई-पत्र द्वारा ggajendra@videha.com पर सेहो पठा सकैत छी।

"विदेह" मानुषिमिह संस्कृताम् :- मैथिली साहित्य आन्दोलनकेँ आगाँ बढ़ाऊ।- सम्पादक। http://www.videha.co.in/
पूर्वपीठिका : इंटरनेटपर मैथिलीक प्रारम्भ हम कएने रही 2000 ई. मे अपन भेल एक्सीडेंट केर बाद, याहू जियोसिटीजपर 2000-2001 मे ढेर रास साइट मैथिलीमे बनेलहुँ, मुदा ओ सभ फ्री साइट छल से किछु दिनमे अपने डिलीट भऽ जाइत छल। ५ जुलाई २००४ केँ बनाओल “भालसरिक गाछ” जे http://www.videha.com/ पर एखनो उपलब्ध अछि, मैथिलीक इंटरनेटपर प्रथम उपस्थितिक रूपमे अखनो विद्यमान अछि। फेर आएल “विदेह” प्रथम मैथिली पाक्षिक ई-पत्रिका http://www.videha.co.in/पर। “विदेह” देश-विदेशक मैथिलीभाषीक बीच विभिन्न कारणसँ लोकप्रिय भेल। “विदेह” मैथिलक लेल मैथिली साहित्यक नवीन आन्दोलनक प्रारम्भ कएने अछि। प्रिंट फॉर्ममे, ऑडियो-विजुअल आ सूचनाक सभटा नवीनतम तकनीक द्वारा साहित्यक आदान-प्रदानक लेखकसँ पाठक धरि करबामे हमरा सभ जुटल छी। नीक साहित्यकेँ सेहो सभ फॉरमपर प्रचार चाही, लोकसँ आ माटिसँ स्नेह चाही। “विदेह” एहि कुप्रचारकेँ तोड़ि देलक, जे मैथिलीमे लेखक आ पाठक एके छथि। कथा, महाकाव्य,नाटक, एकाङ्की आ उपन्यासक संग, कला-चित्रकला, संगीत, पाबनि-तिहार, मिथिलाक-तीर्थ,मिथिला-रत्न, मिथिलाक-खोज आ सामाजिक-आर्थिक-राजनैतिक समस्यापर सारगर्भित मनन। “विदेह” मे संस्कृत आ इंग्लिश कॉलम सेहो देल गेल, कारण ई ई-पत्रिका मैथिलक लेल अछि, मैथिली शिक्षाक प्रारम्भ कएल गेल संस्कृत शिक्षाक संग। रचना लेखन आ शोध-प्रबंधक संग पञ्जी आ मैथिली-इंग्लिश कोषक डेटाबेस देखिते-देखिते ठाढ़ भए गेल। इंटरनेट पर ई-प्रकाशित करबाक उद्देश्य छल एकटा एहन फॉरम केर स्थापना जाहिमे लेखक आ पाठकक बीच एकटा एहन माध्यम होए जे कतहुसँ चौबीसो घंटा आ सातो दिन उपलब्ध होअए। जाहिमे प्रकाशनक नियमितता होअए आ जाहिसँ वितरण केर समस्या आ भौगोलिक दूरीक अंत भऽ जाय। फेर सूचना-प्रौद्योगिकीक क्षेत्रमे क्रांतिक फलस्वरूप एकटा नव पाठक आ लेखक वर्गक हेतु, पुरान पाठक आ लेखकक संग, फॉरम प्रदान कएनाइ सेहो एकर उद्देश्य छ्ल। एहि हेतु दू टा काज भेल। नव अंकक संग पुरान अंक सेहो देल जा रहल अछि। विदेहक सभटा पुरान अंक pdf स्वरूपमे देवनागरी, मिथिलाक्षर आ ब्रेल, तीनू लिपिमे, डाउनलोड लेल उपलब्ध अछि आ जतए इंटरनेटक स्पीड कम छैक वा इंटरनेट महग छैक ओतहु ग्राहक बड्ड कम समयमे ‘विदेह’ केर पुरान अंकक फाइल डाउनलोड कए अपन कंप्युटरमे सुरक्षित राखि सकैत छथि आ अपना सुविधानुसारे एकरा पढ़ि सकैत छथि।
मुदा ई तँ मात्र प्रारम्भ अछि।
अपन टीका-टिप्पणी एतए पोस्ट करू वा अपन सुझाव ई-पत्र द्वारा ggajendra@videha.com पर पठाऊ।

'विदेह' २३२ म अंक १५ अगस्त २०१७ (वर्ष १० मास ११६ अंक २३२)

ऐ  अंकमे अछि :- १. संपादकीय संदेश २. गद्य २.१. जगदीश प्रसाद मण्‍डलक  दूटा लघु कथा   कोढ़िया सरधुआ  आ  त्रिकालदर ्शी २.२. नन...