Sunday, February 07, 2010

17

Maithili word Meaning
मुरेमा मालक मूड़ीवला भगक चामकेँ
मुरेना मालक मूड़ीवला भगक चामकेँ
सिरमा मालक मूड़ीवला भगक चामकेँ
मथानी मालक मूड़ीवला भगक चामकेँ
मथामी मालक मूड़ीवला भगक चामकेँ
गलारी मालक मूड़ीवला भगक चामकेँ
नङरेठ नाङरि दिसुक चामकेँ
चेरुआ गोड़ीवला भागक चामकेँ
फिरता मालक शरीर पर घाव, ठेला आदि रहने चामक अकाजक भागकेँ
निकाल मालक शरीर पर घाव, ठेला आदि रहने चामक अकाजक भागकेँ
मडाराजी मालक शरीर पर घाव, ठेला आदि रहने चामक अकाजक भागकेँ
पाढ़ी मालक रीढ़ लग उज्जार रंगक एकटा पदार्थ
ताँत मालक शरीर पर घाव, ठेला आदि रहने चामक अकाजक भागकेँ
ताँति मालक शरीर पर घाव, ठेला आदि रहने चामक अकाजक भागकेँ
गोरोचन कोनो-कोनो गाइक नाभि लग एकटा उज्ज र रंगक दानेदार पदार्थ भेटैत छैक। एकरा
गोलोचन कोनो-कोनो गाइक नाभि लग एकटा उज्जनर रंगक दानेदार पदार्थ भेटैत छैक। एकरा
सींघ मालक माथपर उगल दूटा ठोस दंडाकार अंगकेँ
हड्डी ओकर शरीर जाहि ठोस वस्तुडक ठट्ठपर ठाढ़ रहैत छैक से
हाड़ ओकर शरीर जाहि ठोस वस्तु क ठट्ठपर ठाढ़ रहैत छैक से
कच्चार खाल रोआँ ओ मांसक किछु भाग सहित सद्य- खलल चरसाकेँ
पकइया खालक शुद्धीकरणकेँ
पकोइया खालक शुद्धीकरणकेँ
पकपकइया खालक शुद्धीकरणकेँ
कस धोकड़ीकेँ आम, महु, बबुर ओ बाँझीक छालकेँ कूटि पानिमे घोरल रससँ भरि देल जाइत छैक। एहि रसकेँ
काँटी चमारक व्यदवसायमे चामक अतिरिक्तय अनेक अन्यक वस्तुर सभक प्रयोजन होइत एहिमे सर्वप्रमुख अछि लोहक कील। एकरा
तारकाँटी साधारण काँटीकेँ
कोकइ चाकर माथवला काँटीकेँ
बोमा चाकर माथवला काँटीकेँ
गुलमेख गोल माथवला काँटीकेँ
टिंगल अत्यलन्तक छोट आकृतिक काँटीकेँ
पिन अत्यलन्तक छोट आकृतिक काँटीकेँ
धन्नी अत्यीन्तक छोट आकृतिक काँटीकेँ
लमनचूसिया अर्द्धचन्द्र कारक काँटीक प्रभेदकेँ
लइ चामकेँ सटबाक हेतु गहूमक चिक्कँसकेँ बरकाकऽ बनाओल लसिगर पदार्थकेँ
लेइ चामकेँ सटबाक हेतु गहूमक चिक्कँसकेँ बरकाकऽ बनाओल लसिगर पदार्थकेँ
खरी चामकेँ सटबाक हेतु गहूमक चिक्कँसकेँ बरकाकऽ बनाओल लसिगर पदार्थकेँ
लसम ई पूर्वमे प्रयुक्तब होइत छल। भातक लइकेँ
सुलेशनक आइकाल्हि एकरा सभक स्थाकन पर
रापी चामकेँ कटबाक हेतु चाकर फलवला लोहक औजारकेँ
राँपी चामकेँ कटबाक हेतु चाकर फलवला लोहक औजारकेँ
खुरपी चामकेँ कटबाक हेतु चाकर फलवला लोहक औजारकेँ
राँपा पैघ रॉपीकेँ
खुरपा पैघ रॉपीकेँ
कतरब खुर्पीसँ चामक सतहकेँ छिलबाक क्रिया
खरेटब खुर्पीसँ चामक सतहकेँ छिलबाक क्रिया
झील झारब चामक कोरवला भागमे ढालू सतह बनयबाक क्रिया
झील उड़ायब चामक कोरवला भागमे ढालू सतह बनयबाक क्रिया
कतरन काटि कऽ फेकल चामक बेकार भागकेँ
पिढि़या बबूर अथवा शीशोक सारिल भागक टुकड़ा जकर उपयोग चाम कटबाक हेतु ठेहाक रूपमे होइत छैक से
पर(ड़)ही बबूर अथवा शीशोक सारिल भागक टुकड़ा जकर उपयोग चाम कटबाक हेतु ठेहाक रूपमे होइत छैक से
खरपा बबूर अथवा शीशोक सारिल भागक टुकड़ा जकर उपयोग चाम कटबाक हेतु ठेहाक रूपमे होइत छैक से
पाटा बबूर अथवा शीशोक सारिल भागक टुकड़ा जकर उपयोग चाम कटबाक हेतु ठेहाक रूपमे होइत छैक से
पहटा बबूर अथवा शीशोक सारिल भागक टुकड़ा जकर उपयोग चाम कटबाक हेतु ठेहाक रूपमे होइत छैक से
फर(ड़) ही बबूर अथवा शीशोक सारिल भागक टुकड़ा जकर उपयोग चाम कटबाक हेतु ठेहाक रूपमे होइत छैक से
परिकठ बबूर अथवा शीशोक सारिल भागक टुकड़ा जकर उपयोग चाम कटबाक हेतु ठेहाक रूपमे होइत छैक से
सिल्लाे बबूर अथवा शीशोक सारिल भागक टुकड़ा जकर उपयोग चाम कटबाक हेतु ठेहाक रूपमे होइत छैक से
चक्काठ गोल परहीकेँ
सूआ चाममे छेद करबाक हेतु लाहक नोंखगर छड़सँ युक्तत औजारकेँ
सुतारी चाममे छेद करबाक हेतु लाहक नोंखगर छड़सँ युक्तत औजारकेँ
आर चाममे छेद करबाक हेतु लाहक नोंखगर छड़सँ युक्तत औजारकेँ
कटरनी चामकेँ सीबाक हेतु अग्रभागमे नकुसीसँ युक्तह लोहाक औजारकेँ
टकना चामकेँ सीबाक हेतु अग्रभागमे नकुसीसँ युक्तह लोहाक औजारकेँ
तिजकरनी चाकर धारवला कटरनीकेँ
मँझोला मध्यलम आकृतिक कटरनीकेँ
मँझोली मध्यलम आकृतिक कटरनीकेँ
कलौसिया मोट तागसँ सिलाइ करबाक हेतु कटरनीक प्रभेदकेँ
कौलेसिया मोट तागसँ सिलाइ करबाक हेतु कटरनीक प्रभेदकेँ
जंजीरा सिलाइ अपेक्षाकृत चाकर भागकेँ सम्बकद्ध करैत छैक आ एहिसँ सूतक श्रृंखला जकाँ देखाइत छैक।
लोहङा काँटीकेँ चाममे ठोकबाक हेतु लोहक बेलनाकार औजारकेँ
लोहॅंगा काँटीकेँ चाममे ठोकबाक हेतु लोहक बेलनाकार औजारकेँ
लेहाँगा काँटीकेँ चाममे ठोकबाक हेतु लोहक बेलनाकार औजारकेँ
लेहोङा काँटीकेँ चाममे ठोकबाक हेतु लोहक बेलनाकार औजारकेँ
लहोंगा काँटीकेँ चाममे ठोकबाक हेतु लोहक बेलनाकार औजारकेँ
रचना काँटीकेँ चाममे ठोकबाक हेतु लोहक बेलनाकार औजारकेँ
मुङरी काँटीकेँ चाममे ठोकबाक हेतु लोहक बेलनाकार औजारकेँ
हथौड़ी काँटीकेँ चाममे ठोकबाक हेतु लोहक बेलनाकार औजारकेँ
पिटना काँटीकेँ चाममे ठोकबाक हेतु लोहक बेलनाकार औजारकेँ
टिपना काँटीकेँ चाममे ठोकबाक हेतु लोहक बेलनाकार औजारकेँ
चौरस एहिसॅं चामकेँ सेहो पीटि कऽ
हामर चामकेँ पिटबाक हेतु व्यिवहृत काठक हथौड़ी केँ
लोहालास परस्पार समकोणपर स्थित तीनटा लौहदंडसँ युक्त औजार जाहिपर राखि चामने काँटी ठोकल जाइत छैक, से
जमूड़ जमूड़ा काँटी उखाड़बाक हेतु गाइक खुर सदृश अग्रभागवला औजारकेँ
जम्बूअरा काँटी उखाड़बाक हेतु गाइक खुर सदृश अग्रभागवला औजारकेँ
जम्बूअर काँटी उखाड़बाक हेतु गाइक खुर सदृश अग्रभागवला औजारकेँ
सरसी चामकेँ पकडि़ कऽ तनबाक हेतु लोहाक लोलयुक्तऽ औजारकेँ
पि‍ञ्चिस टेढ़ लोलवला सरसीक प्रभेदकेँ
पै‍ञ्चिस टेढ़ लोलवला सरसीक प्रभेदकेँ
बेंगा रुखाणीक आकृतिक काठक औजारसँ चामक रोआँ उखारल जाइत छैक तथा ओकर सतहकेँ मोलायम कयल जाइत छैक। एहि औजारकेँ
बेओङा रुखाणीक आकृतिक काठक औजारसँ चामक रोआँ उखारल जाइत छैक तथा ओकर सतहकेँ मोलायम कयल जाइत छैक। एहि औजारकेँ
बेऊँगा रुखाणीक आकृतिक काठक औजारसँ चामक रोआँ उखारल जाइत छैक तथा ओकर सतहकेँ मोलायम कयल जाइत छैक। एहि औजारकेँ
बेओंगी रुखाणीक आकृतिक काठक औजारसँ चामक रोआँ उखारल जाइत छैक तथा ओकर सतहकेँ मोलायम कयल जाइत छैक। एहि औजारकेँ
बेओङी रुखाणीक आकृतिक काठक औजारसँ चामक रोआँ उखारल जाइत छैक तथा ओकर सतहकेँ मोलायम कयल जाइत छैक। एहि औजारकेँ
पेलन रुखाणीक आकृतिक काठक औजारसँ चामक रोआँ उखारल जाइत छैक तथा ओकर सतहकेँ मोलायम कयल जाइत छैक। एहि औजारकेँ
तिजमन मोम रखबाक हेतु प्रयुक्ति बकरीक सिंघकेँ
साँचा जूता छनबाक हेतु काठक आधारकेँ
फरमा जूता छनबाक हेतु काठक आधारकेँ
हुक फरमासँ जूता निकालबाक हेतु प्रयुक्तू नकुसीवला औजारकेँ
हुकबन फरमासँ जूता निकालबाक हेतु प्रयुक्तू नकुसीवला औजारकेँ
रिंगकटनी जूताक रिंगक हेतु छेद करबाक हेतु व्यंवहृत औजारकेँ
रिंगकटनी जूताक रिंगक हेतु छेद करबाक हेतु व्यंवहृत औजारकेँ
रिंगबैठौनी रिंग बैसयबाक औजारकेँ
पएकर जूतामे रंग चढ़यबाक पैसयबाक हेतु व्यंवहृत औजारकेँ
कूची जूतापर रंग चढ़यबाक औजार
ब्रश पालिस लगैबाक चाकर कुच्चीाकेँ
बुरुस पालिस लगैबाक चाकर कुच्चीाकेँ
लगौना राँपी आदि लौह औजारक फऽलकेँ रगडि़कऽ पिजयबाक हेतु प्रयुक्त पाथरकेँ
चमौटी कटरनी आदिकेँ रगडि़कऽ पिजयबाक हेतु चामक छोट सन टुकड़ीकेँ
सरेस चामक सतहकेँ चिक्क न करबाक हेतु प्रयुक्ति बालु साटल कागतकेँ
पनही चमार चामसँ पैरमे पहिरबाक हेतु प्रयुक्तस एकटा उपादान बनबैत अछि। एकरा
जुत्ता चमार चामसँ पैरमे पहिरबाक हेतु प्रयुक्तस एकटा उपादान बनबैत अछि। एकरा
जूता चमार चामसँ पैरमे पहिरबाक हेतु प्रयुक्तस एकटा उपादान बनबैत अछि। एकरा
चमरउ मृत मालक चामसँ बनल देशी जुत्ताकेँ
तल्लाा जूताक नीचावला भागकेँ
तल्ली जूताक नीचावला भागकेँ
तऽरी जूताक नीचावला भागकेँ
ठोकर तल्ली क अग्रभागकेँ
अपर जुत्ताक ऊपरवला भाग जे पञ्जाकेँ झँपने रहैत छैक से
अस्तेर अपरक चामक निचला भागमे लागल कपड़ा अथवा पातर चामक परतकेँ
जिम्भी अपरमे फीताक नीचावाला जीहक आकृतिक भागकेँ
जिभिया अपरमे फीताक नीचावाला जीहक आकृतिक भागकेँ
श्तूिल्लाल जूताक तल्लीेक सम्पूार्ण भाग पर ओछाओल पातर चामकेँ
शुपल्लाा जूताक तल्लीचक सम्पूार्ण भाग पर ओछाओल पातर चामकेँ
सुखतल्लात जूताक तल्लीचक सम्पूार्ण भाग पर ओछाओल पातर चामकेँ
बनबर तल्ली ओ सुखतल्लााक बीचवला भागकेँ
सोल जुत्ताक तल्लीीमे एँड़ी दिस चामक मोट तऽह देल रहैत छैक। एकरा
एँड़ा जुत्ताक तल्लीहमे एँड़ी दिस चामक मोट तऽह देल रहैत छैक। एकरा
एँड़ी जुत्ताक तल्लीहमे एँड़ी दिस चामक मोट तऽह देल रहैत छैक। एकरा
हील बेसी ऊँच सोलकेँ
हाइहील बेसी ऊँच सोलकेँ
अड्डी अपरक जे भाग एँड़ी दिस रहैत छैक ओकरा
मगजी अड्डीक मध्य भागक जोड़केँ झँपैत चामक टुकड़ीकेँ
जोड़ बाम ओ दहिना पैरमे पहिरबाक दूटा जूत्ताक समूहकेँ
पवाइ जोड़क प्रत्येसक
बूट अत्यकन्त‍ ऊँच अड्डीसँ युक्तभ जुत्ताक पैघ प्रभेदकेँ
जुत्ती स्त्री गणक हेतु उपयोगी जुत्ताकेँ
चट्टी अड्डीविहीन एवं अग्रभागमे खुलल अपरसूं युक्तव जुत्ताक प्रभेदकेँ
चप्पूल अड्डीविहीन एवं अग्रभागमे खुलल अपरसँ युक्ती जुत्ताक प्रभेदकेँ
सलमशाही चमरउ जुत्ताक एकटा पारम्पतरिक प्रभेदमे अग्रभागमे कलात्म्क नोंखी बनल रहैत छैक। एकरा
सलीमशाही चमरउ जुत्ताक एकटा पारम्प रिक प्रभेदमे अग्रभागमे कलात्म्क नोंखी बनल रहैत छैक। एकरा
सलेमशाही चमरउ जुत्ताक एकटा पारम्प रिक प्रभेदमे अग्रभागमे कलात्म्क नोंखी बनल रहैत छैक। एकरा
नागरा एहि आकारक जुत्ताकेँ आइकाल्हि
टपिया नागराक अपरवला भागकेँ
ठिकरी कलात्म क नोखीसँ विहीन जुत्ताक प्रभेदकेँ
पिलकौंआँ जाहि जुत्तामे नोंखी आगू दिस जाकऽ फेर पाछू दिस मोड़ल रहैत छैक से
मचमच जुत्ता पहिरि कऽ चललासँ उत्प़न्न ध्व्निकेँ
मचमचायब जुत्ता पहिरि कऽ ओहिसँ ध्व्नि उत्पतन्नओ करबाक क्रिया
मचमचौआ मचमच आवाज करऽवला जुत्ताकेँ
जुतिआयब जुत्तासँ नामधातु
जूता-जूती परस्पार जुत्ता मारबाक व्या पारकेँ
जुताजुतौअलि परस्पुर जुत्ता मारबाक व्या पारकेँ
कठरा काठक आधारकेँ
खोल माटिक आधारकेँ वाद्य यंत्रक
खोला माटिक आधारकेँ वाद्य यंत्रक
ढोलक मध्य भागमे अधिक व्यावसवला तथा दूनू कात दिस क्रमश: कम व्यादसवला कठरासँ युक्तय एकटा वाद्ययंत्रकेँ
ढोल मध्यय भागमे अधिक व्या्सवला तथा दूनू कात दिस क्रमश: कम व्यादसवला कठरासँ युक्तय एकटा वाद्ययंत्रकेँ
पूरा एकर दूनू दिसुक खुलल मुँहकेँ चामसँ छारल जाइत छैक। दूनू मुँहकेँ
चपनी पूरामे चामक परित: लागल बाँसक कमचीकेँ
पत्ती पूरामे चामक परित: लागल बाँसक कमचीकेँ
सुर पुराक एक दिस खाली चामक छारन रहैत एहि भागक चामकेँ
गद दोसर दिसुक चामक मध्यावर्ती भागमे भीतरसँ गोल कऽ मशाला साटल रहैत छैक एहि भागक चामकेँ
गद्द दोसर दिसुक चामक मध्यमवर्ती भागमे भीतरसँ गोल कऽ मशाला साटल रहैत छैक। एहि भागक चामकेँ
बम दोसर दिसुक चामक मध्यमवर्ती भागमे भीतरसँ गोल कऽ मशाला साटल रहैत छैक। एहि भागक चामकेँ
मृदंग ढोलकेक आकृतिक अन्य वाद्यंत्र
मृदङ ढोलकेक आकृतिक अन्य वाद्यंत्र
मृदङ्ग ढोलकेक आकृतिक अन्य वाद्यंत्र
मिरदंग ढोलकेक आकृतिक अन्य वाद्यंत्र
मिर्दङ ढोलकेक आकृतिक अन्य वाद्यंत्र
मिरदङ ढोलकेक आकृतिक अन्य वाद्यंत्र
बदधी एहिमे दूनू पूरा गद्दे होइत छैक। एहिमे सूतक डोरीक स्था नपर चामक डोरीक उपयोग होइत अछि। एहि डोरीकेँ
गुल्लीर बद्धीक नीचाँ काठक छोट-छौअ बेलनाकार टुकड़ी सभ देल रहैत छैक। एकरा सभकेँ
मानर छोट पूरावला मृदङक प्रभेदकेँ
मानरि छोट पूरावला मृदङक प्रभेदकेँ
पखाउज मानरियेक आकृतिक अन्यर वाद्यत्रंकेँ
पखाओज मानरियेक आकृतिक अन्यर वाद्यत्रंकेँ
नाल आइकाल्हि मानरियेक आकृतिक मुदा कि‍ञ्चित परिवर्तित प्रकारक मानरिक उपयोग देखल जाइछ। एकरा
डांगर खूब चाकर एवं गोलाकार कठरा पर दूनू दिस समान व्याकसक चामसँ छारल वाद्ययंत्रकेँ
डाङर खूब चाकर एवं गोलाकार कठरा पर दूनू दिस समान व्याकसक चामसँ छारल वाद्ययंत्रकेँ
डफ चारि आङगुर चाकर वृत्ताकार कठरापर चामसँ छारल वाद्ययंत्रकेँ
डफली चारि आङगुर चाकर वृत्ताकार कठरापर चामसँ छारल वाद्ययंत्रकेँ
डम्फप चारि आङगुर चाकर वृत्ताकार कठरापर चामसँ छारल वाद्ययंत्रकेँ
डम्फार चारि आङगुर चाकर वृत्ताकार कठरापर चामसँ छारल वाद्ययंत्रकेँ
डफरा चारि आङगुर चाकर वृत्ताकार कठरापर चामसँ छारल वाद्ययंत्रकेँ
ढप चारि आङगुर चाकर वृत्ताकार कठरापर चामसँ छारल वाद्ययंत्रकेँ
ढाक एकर पैघ प्रभेदकेँ
ढक्काै एकर पैघ प्रभेदकेँ
खजुरी सनगोहिक चामसँ छारल छोट ढपकेँ
डमरू मध्य मे पातर ओ दूनू दिस दूटा शंकुक आकृतिक हा‍थसँ बजयबाक हेतु उपयुक्त वाद्य यंत्र विशेषकेँ
डामरु मध्युमे पातर ओ दूनू दिस दूटा शंकुक आकृतिक हा‍थसँ बजयबाक हेतु उपयुक्त वाद्य यंत्र विशेषकेँ
गुमकी पृष्ठ भागमे चामसँ छारल एकटा वाद्य यंत्रमे चामसँ सम्ब द्ध डोरिक कम्पयन द्वारा आवाज निकालल जाइत छैक। एहि वाद्य यंत्रकेँ
तबला गोलाक आधा भागक आकृतिक काठ पर छारल गदयुक्ति वाद्ययंत्रकेँ
डुग्गी एकरा संगे अत्य न्त‍ छोट पूरसँ एकटा अन्य वाद्य सेहो बजाओल जाइत अछि। एकरा
दुग्गीछ एकरा संगे अत्य न्तस छोट पूरसँ एकटा अन्य वाद्य सेहो बजाओल जाइत अछि। एकरा
ठेका एकरा संगे अत्य न्तस छोट पूरसँ एकटा अन्य वाद्य सेहो बजाओल जाइत अछि। एकरा
डिगरी अधगोलाक आकृतिक माटिक खोलापर चामसँ छारल सबसँ छोअ वाद्य यंत्रकेँ
डिगडिगिया अधगोलाक आकृतिक माटिक खोलापर चामसँ छारल सबसँ छोअ वाद्य यंत्रकेँ
जिल डिगरीसँ पैघ वाद्यकेँ
भठिया जिलसँ पैघकेँ
मादल भठियासँ पैघकेँ
बम मादलसँ पैघकेँ
ढाक मादलसँ पैघकेँ
नङरा जिल, भठिया, मादल ओ बमक हेतु सामान्यँ शब्द ढोल अछि। एहि जातिक सबसँ पेघ वाद्य यंत्रकेँ
नङारा जिल, भठिया, मादल ओ बमक हेतु सामान्य शब्दक ढोल अछि। एहि जातिक सबसँ पेघ वाद्य यंत्रकेँ
नगारा जिल, भठिया, मादल ओ बमक हेतु सामान्य शब्द ढोल अछि। एहि जातिक सबसँ पेघ वाद्य यंत्रकेँ
नगेरा जिल, भठिया, मादल ओ बमक हेतु सामान्य शब्दक ढोल अछि। एहि जातिक सबसँ पेघ वाद्य यंत्रकेँ
नङ्गारा जिल, भठिया, मादल ओ बमक हेतु सामान्य शब्दक ढोल अछि। एहि जातिक सबसँ पेघ वाद्य यंत्रकेँ
डंका नगाराक अत्यपन्त् पैघ प्रभेद
तासा छाँछ आकृतिक माटिक खोलापर छारल वाद्य यंत्रकेँ
खुरदक पिपही ओ ढोलक सम्मिलित वाद्य समूहकेँ
नौबत शहनाइक संग व्यमवहृत छोट-छोट नगाड़ाकेँ
नौबति शहनाइक संग व्यमवहृत छोट-छोट नगाड़ाकेँ
चानाखोल छोट पूरासँ युक्त‍ ढोलकक कठराक आकृतिक माटिक खोलापर छारल वाद्यविशेषकेँ
चान्दवखोल छोट पूरासँ युक्त ढोलकक कठराक आकृतिक माटिक खोलापर छारल वाद्यविशेषकेँ
ढोलकी धियापुताक हेतु माटिक खजुरी सन वाद्यकेँ
ढोललिया ढोल बजौनिहार चमारकेँ
ढोलहो प्रचारक हेतु ढोल बजयबाक क्रिया
ढोलहो पीटब प्रचारक हेतु ढोल बजयबाक क्रिया
ढोलहो देब प्रचारक हेतु ढोल बजयबाक क्रिया
भीथी सालब जूत्ता ओ वाद्ययंत्रक अतिरिक्ता चमार विभिन्न् उपयोगक चामक वुस्त सभ बनबैत अछि। लोहारक भीथीपर चाम चढ़ाओल जाइत छैक। एकरा
चमौटा हलात इपन लौह ओजार सभकेँ पिजयबाक हेतु चामक एकटा आयताकार टुकड़ाक व्यकवहार करेत अछि। एकरा
चमौटी छोट चमौटाकेँ
सट्टा बड़दकेँ हँकबाक हेतु व्यआवहृत औजार विशेष
साटा बड़दकेँ हँकबाक हेतु व्यआवहृत औजार विशेष
साँटा बड़दकेँ हँकबाक हेतु व्यआवहृत औजार विशेष
चाभुक बड़दकेँ हँकबाक हेतु व्यआवहृत औजार विशेष
चमौटी एहिमे काठ अथवा बाँसक दंडक अग्रभागमे चामक अनेक बद्धी बान्हाल रहैत छैक। डाँड़मे पहिरबाक हेतु प्रयुक्तै एवं विभिन्नह पशुक गर्दनिमे पहिरयबाक हेतु प्रचलित चामक चाकर फीताकेँ
डड़कस एहिमे काठ अथवा बाँसक दंडक अग्रभागमे चामक अनेक बद्धी बान्हाल रहैत छैक। डाँड़मे पहिरबाक हेतु प्रयुक्तै एवं विभिन्नह पशुक गर्दनिमे पहिरयबाक हेतु प्रचलित चामक चाकर फीताकेँ
डँड़कस एहिमे काठ अथवा बाँसक दंडक अग्रभागमे चामक अनेक बद्धी बान्हाल रहैत छैक। डाँड़मे पहिरबाक हेतु प्रयुक्तै एवं विभिन्नह पशुक गर्दनिमे पहिरयबाक हेतु प्रचलित चामक चाकर फीताकेँ
बेल्टि एहिमे काठ अथवा बाँसक दंडक अग्रभागमे चामक अनेक बद्धी बान्हाल रहैत छैक। डाँड़मे पहिरबाक हेतु प्रयुक्तै एवं विभिन्नज पशुक गर्दनिमे पहिरयबाक हेतु प्रचलित चामक चाकर फीताकेँ
मशक पानिकेँ पीठपर लादिकऽ स्थाकनांतरित करबाक बासनकेँ
कुप्पाँ घी रखबाक हेतु व्यतवहृत चामक पात्रकेँ
कुप्पीे छोअ कुप्पाेकेँ
माइल पूजा-अर्चा ओ मांगलिक अवसरपर पत्र-पुष्प , मालादिक करब
मालि पूजा-अर्चा ओ मांगलिक अवसरपर पत्र-पुष्प , मालादिक करब
माली पूजा-अर्चा ओ मांगलिक अवसरपर पत्र-पुष्प , मालादिक करब
फुलबाड़ी घर लगक छोट छीन भू-क्षेत्रकेँ बाड़ी कहल जाइत छैक। फूल लगयबाक हेतु प्रयुक्तफ बाड़ीकेँ
फुलबन घर लगक छोट छीन भू-क्षेत्रकेँ बाड़ी कहल जाइत छैक। फूल लगयबाक हेतु प्रयुक्तफ बाड़ीकेँ
फुलहर घर लगक छोट छीन भू-क्षेत्रकेँ बाड़ी कहल जाइत छैक। फूल लगयबाक हेतु प्रयुक्तफ बाड़ीकेँ
क्याारी फुलवाड़ीक विभाग सभकेँ
किआ (या) री फुलवाड़ीक विभाग सभकेँ
केआ (या) री फुलवाड़ीक विभाग सभकेँ
पट्टी फुलवाड़ीक विभाग सभकेँ
चउकिआयब जोतल-कोड़ल खेतकेँ सरियाम करबाक क्रिया
झिलिआयब कोदारि द्वारा माटिकेँ कने-कने मात्रामे कचि पातर करबाक क्रिया
थलिआयब माटिकेँ कोडि़कऽ पुन: सरियाम करबाक क्रिया
बाओग करब बूनब गाछक बीजकेँ माटिक सम्पयर्कमे देबाक क्रिया
रोपब गाछकेँ जमीनमे गाड़बाक क्रिया
कमायब अनपेक्षित घासकेँ हटयबाक क्रिया
बीज फूलक गाछक फऽड़केँ
बीया फूलक गाछक फऽड़केँ
बीहन फूलक गाछक फऽड़केँ
अंकुर नमीक प्रभावमे बीयाक प्रस्फुिटनसँ निकलल गाछक प्रारंभिक रूपकेँ
अँकुड़ा नमीक प्रभावमे बीयाक प्रस्फुकटनसँ निकलल गाछक प्रारंभिक रूपकेँ
सूत नमीक प्रभावमे बीयाक प्रस्फुकटनसँ निकलल गाछक प्रारंभिक रूपकेँ
डिब्भीग नमीक प्रभावमे बीयाक प्रस्फुकटनसँ निकलल गाछक प्रारंभिक रूपकेँ
डेफ नमीक प्रभावमे बीयाक प्रस्फुुटनसँ निकलल गाछक प्रारंभिक रूपकेँ
डेफा नमीक प्रभावमे बीयाक प्रस्फुकटनसँ निकलल गाछक प्रारंभिक रूपकेँ
दुपतिया दू पातसँ युक्ता गाछकेँ
चरिपतिया चारि पातक भऽ गेने ओकरा
बिच्चीा दुपतिया ओ चरिपतियाकेँ
उपड़ब गाछादिक माटिसँ अलग्नँ होयबाक क्रिया
उखड़ब गाछादिक माटिसँ अलग्नँ होयबाक क्रिया
उपाड़ब अलग्नब करबाक क्रिया
उखाड़ब अलग्नब करबाक क्रिया
थल्लाब जडि़क समीपस्थ माटि सहित उखाड़ल गाछकेँ
थाला जडि़क समीपस्थ माटि सहित उखाड़ल गाछकेँ
अण्टाल बान्हलल पिण्ड केँ
अण्डाल बान्हलल पिण्ड केँ
कलम बान्हलल पिण्ड केँ
गछुली छोट गाछकेँ
गछौनी छोट गाछकेँ
गछौन्हीक छोट गाछकेँ
गछौनी गाछक छाहरिसँ युक्त् भूमिकेँ सेहो
गछौन्हीह गाछक छाहरिसँ युक्त् भूमिकेँ सेहो
लत्ती लतरऽवला गाछकेँ
लतरब लत्तीक बढ़बाक क्रिया
चतरब चारू दिशामे लतरबाक क्रिया
ओलरब गाछक चारूकात क्रिया
पलरब गाछक चारूकात क्रिया
झाड़ परस्पचर सम्ब द्ध आदिक समूहकेँ
झाड़ी परस्प र सम्ब द्ध आदिक समूहकेँ
लुहलुहायब नीरोग पत्र-पुष्पाभदिसँ युक्तँ होयबा क्रिया
लुहलुहार लुहालुहायल गाछकेँ
लोटब गाछक शाखा सभक जमीनकेँ सपर्श करबाक क्रिया
भुइयाँलोटान लोटैत गाछकेँ
बरहमसिया जाहि गाछमे सालो भरि फूल फुलाइत छैक अथवा जे गाछ अनेक साल धरि फूल देबाक योग्यस होइछ, ओकरा
सबदिन्ना, जाहि गाछमे सालो भरि फूल फुलाइत छैक अथवा जे गाछ अनेक साल धरि फूल देबाक योग्यअ होइछ, ओकरा
सदाबहार जाहि गाछमे सालो भरि फूल फुलाइत छैक अथवा जे गाछ अनेक साल धरि फूल देबाक योग्यस होइछ, ओकरा
समइया जाहि गाछमे खास मौसमे भरि फूल फुलाइत छैक अथवा एक मौसम धरि फूल देलाक बाद गाछो गलि जाइत छैक, से
मौसमी जाहि गाछमे खास मौसमे भरि फूल फुलाइत छैक अथवा एक मौसम धरि फूल देलाक बाद गाछो गलि जाइत छैक, से
फूलब फूलक प्रस्फकटित होयबाक क्रिया
फुलायब फूलक प्रस्फकटित होयबाक क्रिया
कोढ़ी बिनु फलल फूलकेँ
कोंड़ही बिनु फलल फूलकेँ
कोंढि़आयब कोंढ़ी निकलबाक क्रिया
टुस्सा को़ढ़ीक प्रारंभिक रूपकेँ
कली आवरण मे बन्दर कोंढ़ीकेँ
कल्लीम आवरण मे बन्दल कोंढ़ीकेँ
डंटी फुलक जे भाग ओकरा शाखासँ सम्ब द्ध रखैत छैक से
पत्ती फूलक दलकेँ
सूत फूलक मध्यँभागमे लागल सूत सन पातर आकृतिकेँ
जर्दी सूतपर लागल दाना जकाँ अंग
पराग सूतपर लागल दाना जकाँ अंग
एकहरा जाहि फूलमे चारू कात एकेटा दल छैक, से
एकहारा जाहि फूलमे चारू कात एकेटा दल छैक, से
दोहरा तराउपरी एकाधिक दलसँ युकत फूलकेँ
दोहारा तराउपरी एकाधिक दलसँ युकत फूलकेँ
थोका अत्य धिक प्रस्फु टित फूलक समूहकँ
थौका अत्य धिक प्रस्फुपटित फूलक समूहकँू
झब्बाँ फूलक गुच्छाधकेँ
झाबा फूलक गुच्छाधकेँ
गुलजार पूर्ण फूलल फूलकेँ
भकरार पूर्ण फूलल फूलकेँ
चित्तिर-बित्तिर जाहि दलपर अनेक रंगक छिटका रहेत छैक ओकर रंगकेँ
चित्ती मारब चित्ती होयबाक क्रिया
ककुरियाब गाछक पात सभक ऐ‍ंठि जयबाक क्रिया
सम्हयरब गाछक वृद्धयोन्मुरख होयबाक क्रिया
मरब होसोन्मु ख भऽ सूखि जयबाक क्रिया
कुम्हालायब गाछक फूलपातक मूर्च्छित होयबाक क्रिया
मौलब फूलक पत्तीक कड़ापन समाप्तय होयबाक क्रिया
मौलायब फूलक पत्तीक कड़ापन समाप्तय होयबाक क्रिया
मरब फूलक पत्तीक कड़ापन समाप्तय होयबाक क्रिया
झड़ब मौलल फूलक स्वडत: खसबाक क्रिया
तूब मौलल फूलक स्वडत: खसबाक क्रिया
तूइब मौलल फूलक स्वडत: खसबाक क्रिया
तुअब मौलल फूलक स्वडत: खसबाक क्रिया
सुर्खी उतरब फूलक रंग मलिन होयबाक क्रिया
गमक फूलक उत्कृलष्टक गंधकेँ
सुंगध फूलक उत्कृलष्टक गंधकेँ
गमगम फूलक गंध करबाक क्रिया
गम-गम करब फूलक गंध करबाक क्रिया
गमागम करब फूलक गंध करबाक क्रिया
गमगमायब फूलक गंध करबाक क्रिया
महमह करब फूलक गंध करबाक क्रिया
महमहायब फूलक गंध करबाक क्रिया
महकब अनपेक्षित गंध करबाक क्रिया
गेन्हाषयब अनपेक्षित गंध करबाक क्रिया
भौंरा फूलक गाछपर कारी रंगक एकटा कीट रहैत छैक। एकरा
भेम एही जातिक अन्यए कीट
लोढ़ब गाछसँ फूल तोड़बाक क्रिया
उतारब गाछसँ फूल तोड़बाक क्रिया
बीछब स्वबत: खसल फूलकेँ एक-एक कऽ उठयबाक क्रिया
अकओन स्था यी गछुली; एकहरा; गाढ़लाल ओ उज्ज र; बारहो मास।
अकवन स्था यी गछुली; एकहरा; गाढ़लाल ओ उज्ज र; बारहो मास।
अकोन स्था यी गछुली; एकहरा; गाढ़लाल ओ उज्ज र; बारहो मास।
अकौन स्था यी गछुली; एकहरा; गाढ़लाल ओ उज्ज र; बारहो मास।

No comments:

Post a Comment

"विदेह" प्रथम मैथिली पाक्षिक ई पत्रिका http://www.videha.co.in/:-
सम्पादक/ लेखककेँ अपन रचनात्मक सुझाव आ टीका-टिप्पणीसँ अवगत कराऊ, जेना:-
1. रचना/ प्रस्तुतिमे की तथ्यगत कमी अछि:- (स्पष्ट करैत लिखू)|
2. रचना/ प्रस्तुतिमे की कोनो सम्पादकीय परिमार्जन आवश्यक अछि: (सङ्केत दिअ)|
3. रचना/ प्रस्तुतिमे की कोनो भाषागत, तकनीकी वा टंकन सम्बन्धी अस्पष्टता अछि: (निर्दिष्ट करू कतए-कतए आ कोन पाँतीमे वा कोन ठाम)|
4. रचना/ प्रस्तुतिमे की कोनो आर त्रुटि भेटल ।
5. रचना/ प्रस्तुतिपर अहाँक कोनो आर सुझाव ।
6. रचना/ प्रस्तुतिक उज्जवल पक्ष/ विशेषता|
7. रचना प्रस्तुतिक शास्त्रीय समीक्षा।

अपन टीका-टिप्पणीमे रचना आ रचनाकार/ प्रस्तुतकर्ताक नाम अवश्य लिखी, से आग्रह, जाहिसँ हुनका लोकनिकेँ त्वरित संदेश प्रेषण कएल जा सकय। अहाँ अपन सुझाव ई-पत्र द्वारा ggajendra@videha.com पर सेहो पठा सकैत छी।

"विदेह" मानुषिमिह संस्कृताम् :- मैथिली साहित्य आन्दोलनकेँ आगाँ बढ़ाऊ।- सम्पादक। http://www.videha.co.in/
पूर्वपीठिका : इंटरनेटपर मैथिलीक प्रारम्भ हम कएने रही 2000 ई. मे अपन भेल एक्सीडेंट केर बाद, याहू जियोसिटीजपर 2000-2001 मे ढेर रास साइट मैथिलीमे बनेलहुँ, मुदा ओ सभ फ्री साइट छल से किछु दिनमे अपने डिलीट भऽ जाइत छल। ५ जुलाई २००४ केँ बनाओल “भालसरिक गाछ” जे http://www.videha.com/ पर एखनो उपलब्ध अछि, मैथिलीक इंटरनेटपर प्रथम उपस्थितिक रूपमे अखनो विद्यमान अछि। फेर आएल “विदेह” प्रथम मैथिली पाक्षिक ई-पत्रिका http://www.videha.co.in/पर। “विदेह” देश-विदेशक मैथिलीभाषीक बीच विभिन्न कारणसँ लोकप्रिय भेल। “विदेह” मैथिलक लेल मैथिली साहित्यक नवीन आन्दोलनक प्रारम्भ कएने अछि। प्रिंट फॉर्ममे, ऑडियो-विजुअल आ सूचनाक सभटा नवीनतम तकनीक द्वारा साहित्यक आदान-प्रदानक लेखकसँ पाठक धरि करबामे हमरा सभ जुटल छी। नीक साहित्यकेँ सेहो सभ फॉरमपर प्रचार चाही, लोकसँ आ माटिसँ स्नेह चाही। “विदेह” एहि कुप्रचारकेँ तोड़ि देलक, जे मैथिलीमे लेखक आ पाठक एके छथि। कथा, महाकाव्य,नाटक, एकाङ्की आ उपन्यासक संग, कला-चित्रकला, संगीत, पाबनि-तिहार, मिथिलाक-तीर्थ,मिथिला-रत्न, मिथिलाक-खोज आ सामाजिक-आर्थिक-राजनैतिक समस्यापर सारगर्भित मनन। “विदेह” मे संस्कृत आ इंग्लिश कॉलम सेहो देल गेल, कारण ई ई-पत्रिका मैथिलक लेल अछि, मैथिली शिक्षाक प्रारम्भ कएल गेल संस्कृत शिक्षाक संग। रचना लेखन आ शोध-प्रबंधक संग पञ्जी आ मैथिली-इंग्लिश कोषक डेटाबेस देखिते-देखिते ठाढ़ भए गेल। इंटरनेट पर ई-प्रकाशित करबाक उद्देश्य छल एकटा एहन फॉरम केर स्थापना जाहिमे लेखक आ पाठकक बीच एकटा एहन माध्यम होए जे कतहुसँ चौबीसो घंटा आ सातो दिन उपलब्ध होअए। जाहिमे प्रकाशनक नियमितता होअए आ जाहिसँ वितरण केर समस्या आ भौगोलिक दूरीक अंत भऽ जाय। फेर सूचना-प्रौद्योगिकीक क्षेत्रमे क्रांतिक फलस्वरूप एकटा नव पाठक आ लेखक वर्गक हेतु, पुरान पाठक आ लेखकक संग, फॉरम प्रदान कएनाइ सेहो एकर उद्देश्य छ्ल। एहि हेतु दू टा काज भेल। नव अंकक संग पुरान अंक सेहो देल जा रहल अछि। विदेहक सभटा पुरान अंक pdf स्वरूपमे देवनागरी, मिथिलाक्षर आ ब्रेल, तीनू लिपिमे, डाउनलोड लेल उपलब्ध अछि आ जतए इंटरनेटक स्पीड कम छैक वा इंटरनेट महग छैक ओतहु ग्राहक बड्ड कम समयमे ‘विदेह’ केर पुरान अंकक फाइल डाउनलोड कए अपन कंप्युटरमे सुरक्षित राखि सकैत छथि आ अपना सुविधानुसारे एकरा पढ़ि सकैत छथि।
मुदा ई तँ मात्र प्रारम्भ अछि।
अपन टीका-टिप्पणी एतए पोस्ट करू वा अपन सुझाव ई-पत्र द्वारा ggajendra@videha.com पर पठाऊ।

'विदेह' २२५ म अंक ०१ मई २०१७ (वर्ष १० मास ११३ अंक २२५)

ऐ  अंकमे अछि :- १. संपादकीय संदेश २. गद्य २.१. १. राजदेव मण्‍डल -  दूटा बीहैन क था २. रबीन्‍द्र नारायण मिश...