Sunday, February 07, 2010

16

Maithili word Meaning
कमठओन


बरेबमे उगल अनावश्यoक घास-पातकेँ नष्टअ करब तथा पत्र लत्तीकेँ माटिक सम्पटर्कमे आनि पुन: अंकुरण द्वारा उत्पाकदन योग्य बनयबाक व्यारपारकेँ
छर्रा पानक सम्पूार्ण लत्तीकेँ
गीरह लत्तीमे जाहि स्थाूनसँ शाखा अथवा पात निकलैत छैक ओकरा
बेल एकटा गीरहसँ युक्तर छर्राक भागकँा
छपटा करब पानक छीपकेँ काटि देबाक क्रिया
कऽन पानक लत्तीसँ जडि़वला भागसँ निकलल अंकुरकेँ
झऽड़ पानक लत्तीसँ जडि़वला भागसँ निकलल अंकुरकेँ
भूर जेठ मासमे होमऽवला कऽनकेँ
भूरा जेठ मासमे होमऽवला कऽनकेँ
पान खोंटब पानक लत्तीसँ पात तोड़बाक क्रिया
घासन लत्तीक जडि़ दिसुक क्रमिक पातकेँ क्रमश- उत्कृमष्टभतर मानल जाइत छैक। जडि़ लगक चारि पाँचटा पातकेँ
कूट घासनसँ उपरका चारि-पाँचटा पातकेँ
खूट घासनसँ उपरका चारि-पाँचटा पातकेँ
कचलेवारि खूटसँ ऊपरवला चारि-पाँचटा पातकेँ
मुड़वारि छीप परक पातकेँ
दुपन्ना पात तोड़ैत काल कूटवला एक-दूटा पात गाछमे किछु समयक हेतु छोडि़ देल जाइत छैक। एकरा
लेवार जडि़सँ छीप धरिक सभटा पातक अवर्गीकृत समूहकेँ
लेवारि जडि़सँ छीप धरिक सभटा पातक अवर्गीकृत समूहकेँ
मुहरा पानक पातक अगिला नोंखगर भागकेँ
टुरनी पानक पातक अगिला नोंखगर भागकेँ
सूढ़ पानक पातक अगिला नोंखगर भागकेँ
सूर पानक पातक अगिला नोंखगर भागकेँ
डंटी पातक पृष्ठअ भागकेँ लतासँ सम्बाद्ध राखऽवला शलाकाक आकृतिक भाग
तज्जील पानक पात हरियर होइत अछि। पकलापर एकर रंग पीयर भऽ जाइत छैक। पानक पातक कठोरताकेँ
मरल तज्जीाविहीन पानकेँ
सियाह मौलल पानकेँ
देशी पानक अनेक प्रभेद होइत अछि। स्था नीय पानकेँ
दोगला आयातित बेलकेँ रोपलापर ओहिमे वर्ष जे पात निकलैत छैक ताहिमे मौलिक बेल जकाँ पात उगैत छैक मुदा बादक वर्षमे निककल पातमे स्था नीयताक प्रभाव दृष्टिगोचर होमऽ लगैत छैक। एहन पानकेँ
साँची मिथिलाक देशी पानक एकटा प्रभेद
करजोड़ी मध्यडमे चाकर ओ अगिला-पछिला भागमे गोल पातवला पानक प्रभेद
करजोडि़या मध्यडमे चाकर ओ अगिला-पछिला भागमे गोल पातवला पानक प्रभेद
कलजोड़ी मध्यडमे चाकर ओ अगिला-पछिला भागमे गोल पातवला पानक प्रभेद
कलजोडि़या मध्यडमे चाकर ओ अगिला-पछिला भागमे गोल पातवला पानक प्रभेद
कपूरी कपूरक सुगंधसँ युक्तन पानक प्रभेद
कपुरिया कपूरक सुगंधसँ युक्तन पानक प्रभेद
कर्पुरिया कपूरक सुगंधसँ युक्तन पानक प्रभेद
ककीर कपूरक सुगंधसँ युक्तन पानक प्रभेद
ककेर कपूरक सुगंधसँ युक्तन पानक प्रभेद
ककेरा कपूरक सुगंधसँ युक्तन पानक प्रभेद
बेलहरी साँची मधुर स्वाँदवला पानक एकटा प्रभेद
बंगला साँची पानसँ कम कटु स्वापदवला छोट-छोट पातवला पानक प्रभेद
कलकचतिया, मद्रासी, बनारसी ओ मगही आयातित पानमे
डाटरि लोकगीतमे
झलमा पानमे अनेक प्रकारक बिमारी पकडि़ लैत छैक। पातक चितिर-बित्तिर ओ कडू भऽ जयआक लक्षणवला बिमारी
फुट्टा पातक कोनो भागक गलि जयबाक बीमारी
तेलगगरा सम्पूरर्ण पात गलिकऽ तुबि जयबाक बिमारी
झरकब पातक सुखबाक क्रिया
बढ़ती पानक पातक अग्रभाग झरकि जयबाक बिमारी
बहुती तोड़ल पानक पातमे फेरफार नहि भेने ओकर विकारयुक्तर भऽ सड़बाक बिमारी
कोरी बीस संख्युक पानक पात एक
चौठी पचास पातक
चौठैया पचास पातक
आधा ढोली ओ एक सय पातक
ढोली दू सय पानक पातक समूहकेँ एक
कनमा, सात ढोलीक एक
पौआ, अट्ठाइस ढोलीक एक
आध सेर छप्पेन ढोलीक
लेसो एक सय बारह ढोलीक एक
भीड़ा एक ढोलीसँ कम पातमक बान्हनल समूहकेँ
भीड़ी छोट भीड़ाकेँ
भिरौड़ी ओ अत्यीन्त छोट भीड़ीकेँ
पतौरा पातमे बान्हँल भीड़ीकेँ
पतौरी ओ भिरौड़ीकेँ
छुट्टा डंटी सहित बिनु काटल पानक पातकेँ
कऽथ पानक पातमे
चूनक पानक पातमे
पान लगायब संयोग दऽ मोड़बाक क्रिया
खिल्लीद काटल पानकेँ त्रिभुजाकार मोड़ला उत्तर
बीड़ा सौंस पानक खिल्लीभकेँ
बिड़वा सौंस पानक खिल्लीभकेँ
बिडि़या सौंस पानक खिल्लीभकेँ
बीड़ी छोट बीड़ाकेँ
गिलौरी गोल कऽ मोड़ल बीड़ाकेँ
हसाना लोकगीतमे
काड़ा, चम्पा , टिकुलिया पखिआ मिथिला कोषमे पानक बीड़ीक
सोपारी पानक संगे खाद्य विभिन्नक पदार्थमे सुपारी नामक फल प्रमुख अछि। एकरा
कसैली पानक संगे खाद्य विभिन्नछ पदार्थमे सुपारी नामक फल प्रमुख अछि। एकरा
गुआ पानक संगे खाद्य विभिन्नछ पदार्थमे सुपारी नामक फल प्रमुख अछि। एकरा
पूग पानक संगे खाद्य विभिन्नछ पदार्थमे सुपारी नामक फल प्रमुख अछि। एकरा
पुंगी पानक संगे खाद्य विभिन्नछ पदार्थमे सुपारी नामक फल प्रमुख अछि। एकरा
पंगीफल पानक संगे खाद्य विभिन्नछ पदार्थमे सुपारी नामक फल प्रमुख अछि। एकरा
मु‍खसुपद्धि पानक संगे खाद्य विभिन्नछ पदार्थमे सुपारी नामक फल प्रमुख अछि। एकरा
मनिचन सुपारीक अत्य न्ति छोट प्रभेद
मानचन सुपारीक अत्य न्ति छोट प्रभेद
मानचन्दीअ सुपारीक अत्य‍न्त छोट प्रभेद
मानिकचन सुपारीक अत्य न्त छोट प्रभेद
मानिकचन्दी् सुपारीक अत्य‍न्तए छोट प्रभेद
छलिया अपेक्षाकृत कठोर ओ पैघ सुपारीकेँ
बम्ब्इया बम्ब्इसँ आयातित छलियाकेँ
अमीनताज, गोटाकाँटा कहल जाइत छैक।
आसामी छलियाक अन्यक प्रभेद अछि। आसामसँ आयातित सुपारीक प्रभेद
असमियाँ छलियाक अन्यि प्रभेद अछि। आसामसँ आयातित सुपारीक प्रभेद
चित्ती चप्पतत आकृतिक कषाय स्वाभदसँ युक्ती सुपारीक प्रभेद
निरमली नेपालसँ आयातित सुपारीक सदृश एकटा अत्ययन्ती छोट ओ कठोर फल सेहो पानक संगे व्यकवहार कहल जाइत छैक। एकरा
निरमलिया नेपालसँ आयातित सुपारीक सदृश एकटा अत्ययन्ती छोट ओ कठोर फल सेहो पानक संगे व्यछवहार कहल जाइत छैक। एकरा
कटुआ दू भागमे काटल सुपारीकेँ
फाँक कटुआक प्रत्ये क खंड
टूक फाँककेँ अनेकश: खण्डित कयला उत्तर प्राप्त टुकड़ी सभकेँ
कतरा सुपारीक पातर-पातर कच्चीभकेँ
सेका भूजल सुपारीकेँ
सकेली भूजल सुपारीकेँ
भूजा भूजल सुपारीकेँ
लौंग पानक संगे
लबङ पानक संगे
जाफर नामक कटु पुष्प ,
इलैंची नामक कटु स्वापदयुक्तच फल,
अणा(ड़ा) ची नामक कटु स्वा़दयुक्तच फल,
दछिनी नामक कटु स्वा़दयुक्तच फल,
कपूर, पिपरमिन्टक नामक सुगन्धित फल,
हरीड़ सुगन्धिद्रव्य , आमक सुखायल आँठीक गुद्दा,
पाको विआहमे वर-कनिञाकेँ एक दोसराक हाथसँ हरीड़ पान खोअयबाक विधान छैक। आमक सुखायल आँठीक गुद्दाकेँ
पकुहा विआहमे वर-कनिञाकेँ एक दोसराक हाथसँ हरीड़ पान खोअयबाक विधान छैक। आमक सुखायल आँठीक गुद्दाकेँ
पकोहा विआहमे वर-कनिञाकेँ एक दोसराक हाथसँ हरीड़ पान खोअयबाक विधान छैक। आमक सुखायल आँठीक गुद्दाकेँ
जर्दा आइकाल्हि पानक संगे सुगन्धित तमाकुल खयबाक प्रचलन अछि। एहन तमाकुलकेँ
तबक पानमे ऊपरसँ सटबाक पन्नी। जकाँ अत्येन्तक पातर सुगन्धित वस्तुठकेँ
दशीनहा लोकगीतमे
सादा साधारण पानकेँ
मीठा मधुर स्वानदयुक्तत पदार्थ मिलाओल पानकेँ
पनबसना पान रखबाक वंशरचित छोअ सन पथियाकेँ
पनपथिया पान रखबाक वंशरचित छोअ सन पथियाकेँ
पनबट्टा पान रखबाक धातुक छोट सन पात्रकेँ
पनबट्टी एकर छोट प्रभेद
खिलबट्टा पानक खिल्लीभ रखबाक धातु-पात्रकेँ
खिलबट्टी एकर छोट प्रभेद
बेलहरा वंशराचित पनबट्टाकेँ
बेलहारा वंशराचित पनबट्टाकेँ
बिरहारा वंशराचित पनबट्टाकेँ
बिरहारा वंशराचित पनबट्टाकेँ
सराइ पान प्रस्तुबत करबाक समतल आधार ओ कि‍ञ्चित घेरायुक्तआ धातुक पात्रकेँ
सराय पान प्रस्तु त करबाक समतल आधार ओ कि‍ञ्चित घेरायुक्तआ धातुक पात्रकेँ
छीप पान प्रस्तुकत करबाक समतल आधार ओ कि‍ञ्चित घेरायुक्तआ धातुक पात्रकेँ
खील एक सालक खजूरक गाछ
खिलकट्टी खीलकेँ गर्दनि लग छिलला उत्तर
पौ तीन सालक रस चुअयबा योग्यत खिलकट्टी गाछकेँ
खगड़ा एक सालक ताड़क गाछकेँ
खगड़ी एक सालक ताड़क गाछकेँ
खँगड़ा एक सालक ताड़क गाछकेँ
खँगड़ी एक सालक ताड़क गाछकेँ
खँघड़ी एक सालक ताड़क गाछकेँ
जोता तीन सालक ताड़ी चुआबय योग्य ताड़क ओहन गाछ जाहिसँ ताड़ी चुआओल जाइत छैक, से
डल्ली ताड़ ओ खजूरक डंटी सहित पातकेँ
डमखोरा तारक डल्लीरक डंटीवला भागकेँ
छज्जाड एकर पत्तावला भाग
छाजा एकर पत्तावला भाग
फुलदो ताड़ दू तरहक होइत छैक। मरदन्ना गाछमे करीब एक हाथ नाम पुष्परयुक्तर डाँट निकलैत छैक। एहन गाछकेँ
फुलताड़ ताड़ दू तरहक होइत छैक। मरदन्ना गाछमे करीब एक हाथ नाम पुष्परयुक्तर डाँट निकलैत छैक। एहन गाछकेँ
बलतार ताड़ दू तरहक होइत छैक। मरदन्ना गाछमे करीब एक हाथ नाम पुष्परयुक्तर डाँट निकलैत छैक। एहन गाछकेँ
डाँट पुष्पायुक्तु डाँटके
डंटी पुष्पायुक्तु डाँटके
नेढ़ा पुष्प युक्तु डाँटके
घौरहा जाहि ताड़क गाछमे फऽर निकलैता छैक, ओकरा
फल्लात जाहि ताड़क गाछमे फऽर निकलैता छैक, ओकरा
फलतार जाहि ताड़क गाछमे फऽर निकलैता छैक, ओकरा
बजरबट्टू एहिमे मासमे फऽर निकलैत छैक। एकरा मौगियाही ताड़ बूझल जाइत छैक्र। एकरा फऽर निकलैत छैक। एकरा मौगियाही ताड़ बूझल जाइत छैक। एकर फऽरकेँ
को बजरबट्टूक भीतरी भागमे दू अथवा तीनटा चौखूट ओ मोलायम खाद्य फलकेँ
कोआ बजरबट्टूक भीतरी भागमे दू अथवा तीनटा चौखूट ओ मोलायम खाद्य फलकेँ
तड़कुन बजरबट्टूक भीतरी भागमे दू अथवा तीनटा चौखूट ओ मोलायम खाद्य फलकेँ
ताड़कुन बजरबट्टूक भीतरी भागमे दू अथवा तीनटा चौखूट ओ मोलायम खाद्य फलकेँ
फूटब फलातार अथवा फलदोमे फऽर अथवा निकलबाक क्रिया
घौर मध्य वर्ती डाँट सहित फऽर अथवा नेढ़ाक समूहकेँ
बीड़ ताड़ ओ खजूरक उपरका भाग जतऽसॅं नव पातक अंकर फुटैत छैक, से
कलगी ताड़ ओ खजूरक उपरका भाग जतऽसॅं नव पातक अंकर फुटैत छैक, से
गोभा बीड़क लऽगवला गाछक मोलायम ओ स्वालदिष्टो भागकेँ
कलगी बीड़क लऽगवला गाछक मोलायम ओ स्वालदिष्टो भागकेँ
मौड़ बीड़ ओ ओकर परित: पातक समूहकेँ
बगात ताड़ ओ खजूरक गाछीकेँ
खजुरबन्नीू खजूरक वनकेँ
गछवाह गाछपर चढि़कऽ काज कयनिहार पासीकेँ
बाँझ जाहि गाछसँ ताड़ी नहि निकलैत छैक ओकरा
बहिरा जाहि गाछसँ ताड़ी नहि निकलैत छैक ओकरा
कोढ़ी जाहि गाछसँ ताड़ी नहि निकलैत छैक ओकरा
कोढि़या जाहि गाछसँ ताड़ी नहि निकलैत छैक ओकरा
अनाठु जाहि गाछसँ ताड़ी नहि निकलैत छैक ओकरा
बाँझी सिसवा जाहि गाछसँ ताड़ी नहि निकलैत छैक ओकरा
हँसुआ गाछकेँ छेबबाक हेतु पासीक दाँतविहीन हाँसकूकेँ
तरछेबा गाछकेँ छेबबाक हेतु पासीक दाँतविहीन हाँसकूकेँ
घौरहा हँसुआ तारक घौरकेँ कटबाक हेतु तरछेबाक छोट आकृतिवला प्रभेदकँक
हँसुली तारक घौरकेँ कटबाक हेतु तरछेबाक छोट आकृतिवला प्रभेदकँक
लौठा तरछेबाक धारकेँ तीक्ष्ण् करबाक हेतु प्रयुक्तँ मुट्ठीमे अँटबा योग्यू काइक दंडकेँ
लेओठा तरछेबाक धारकेँ तीक्ष्ण् करबाक हेतु प्रयुक्तँ मुट्ठीमे अँटबा योग्यत काइक दंडकेँ
पिजौना तरछेबाक धारकेँ तीक्ष्णम करबाक हेतु प्रयुक्तँ मुट्ठीमे अँटबा योग्यत काइक दंडकेँ
बलुअठ तरछेबाक धारकेँ तीक्ष्णम करबाक हेतु प्रयुक्तँ मुट्ठीमे अँटबा योग्यत काइक दंडकेँ
बलेठा तरछेबाक धारकेँ तीक्ष्णम करबाक हेतु प्रयुक्त मुट्ठीमे अँटबा योग्यक काइक दंडकेँ
सोंटा तरछेबाक धारकेँ तीक्ष्णम करबाक हेतु प्रयुक्तँ मुट्ठीमे अँटबा योग्यक काइक दंडकेँ
मकरी गाछपर चढ़ैत काल पासी दूनू पैरकेँ तारक पातसँ बनल एकटा वलय द्वारा सम्बसद्ध रखैत अछि। एकरा
फँदिया गाछपर चढ़ैत काल पासी दूनू पैरकेँ तारक पातसँ बनल एकटा वलय द्वारा सम्बसद्ध रखैत अछि। एकरा
डड़कस खजूरक गाछकेँ छिलबाक समय पासीक शरीर, जाहि रसीपर ओंठङल रहैत छैक से
डड़मास खजूरक गाछकेँ छिलबाक समय पासीक शरीर, जाहि रसीपर ओंठङल रहैत छैक से
डड़बाँस खजूरक गाछकेँ छिलबाक समय पासीक शरीर, जाहि रसीपर ओंठङल रहैत छैक से
डँड़बाँस खजूरक गाछकेँ छिलबाक समय पासीक शरीर, जाहि रसीपर ओंठङल रहैत छैक से
लवनी खजूरसँ चुबैत तारीकेँ एकत्र करबाक हेतु करीब एक फुट नाम, छोट मुँहवला गोलाकार माटिक पात्रकेँ
नमनी खजूरसँ चुबैत तारीकेँ एकत्र करबाक हेतु करीब एक फुट नाम, छोट मुँहवला गोलाकार माटिक पात्रकेँ
उढ़रा खजूरसँ चुबैत तारीकेँ एकत्र करबाक हेतु करीब एक फुट नाम, छोट मुँहवला गोलाकार माटिक पात्रकेँ
ओढ़रा खजूरसँ चुबैत तारीकेँ एकत्र करबाक हेतु करीब एक फुट नाम, छोट मुँहवला गोलाकार माटिक पात्रकेँ
कटिया तारमे पैघ मुँहवला लवनीक उपयोग होइत छैक। एकरा
चुक्क ड़ तारमे पैघ मुँहवला लवनीक उपयोग होइत छैक। एकरा
तरकट्टी पैघ लवनीकेँ
हथओना पैघ लवनीकेँ
लवना पैघ लवनीकेँ
नमना पैघ लवनीकेँ
फन्नीव एहिमे विभिन्नी बासनमे जमा भेल तारीकेँ ढारि कऽ नीचा उतारल जाइत छैक। बासन सभक गर्दनिमे नारियरक रस्सीन बान्हनल रहैत छैक। रस्सी् ऊपर दिस अर्द्धवलयक छैक। बासन सभक गर्दनिमे नारियरक रस्सी बान्हरल रहैत छैक। रस्सी् ऊपर दिस अर्द्धवलयक रूपमे लागल रहैत छैक। एकरा
फनकी एहिमे विभिन्नै बासनमे जमा भेल तारीकेँ ढारि कऽ नीचा उतारल जाइत छैक। बासन सभक गर्दनिमे नारियरक रस्सीन बान्हनल रहैत छैक। रस्सी् ऊपर दिस अर्द्धवलयक छैक। बासन सभक गर्दनिमे नारियरक रस्सी बान्हरल रहैत छैक। रस्सी् ऊपर दिस अर्द्धवलयक रूपमे लागल रहैत छैक। एकरा
रौना एहिमे विभिन्नै बासनमे जमा भेल तारीकेँ ढारि कऽ नीचा उतारल जाइत छैक। बासन सभक गर्दनिमे नारियरक रस्सीन बान्हनल रहैत छैक। रस्सी् ऊपर दिस अर्द्धवलयक छैक। बासन सभक गर्दनिमे नारियरक रस्सी बान्हरल रहैत छैक। रस्सी् ऊपर दिस अर्द्धवलयक रूपमे लागल रहैत छैक। एकरा
अँकुरा (ड़ा) खाली पात्र गादपर लऽ जयबाक हेतु एवं भरल पात्रकेँ नीचाँ अनबाक हेतु पासीक डाँड़क प़ष्ठ भागमे लटकैत छैक। लोहाक टेढ़ काँटाकेँ
अँकोरा (ड़ा) खाली पात्र गादपर लऽ जयबाक हेतु एवं भरल पात्रकेँ नीचाँ अनबाक हेतु पासीक डाँड़क प़ष्ठ भागमे लटकैत छैक। लोहाक टेढ़ काँटाकेँ
अँकुसी खाली पात्र गादपर लऽ जयबाक हेतु एवं भरल पात्रकेँ नीचाँ अनबाक हेतु पासीक डाँड़क प़ष्ठ भागमे लटकैत छैक। लोहाक टेढ़ काँटाकेँ
फीता अँकुरा पासीक डाँड़मे बान्हैल कपड़ाक कि‍ञ्चित चाकर पट्टीमे लटकैत रहैत छैक। एकरा
डाँड़ा अँकुरा पासीक डाँड़मे बान्ह ल कपड़ाक कि‍ञ्चित चाकर पट्टीमे लटकैत रहैत छैक। एकरा
डँड़कस अँकुरा पासीक डाँड़मे बान्ह ल कपड़ाक कि‍ञ्चित चाकर पट्टीमे लटकैत रहैत छैक। एकरा
लेवार अँकुरा पासीक डाँड़मे बान्ह ल कपड़ाक कि‍ञ्चित चाकर पट्टीमे लटकैत रहैत छैक। एकरा
पेटार अँकुरा पासीक डाँड़मे बान्ह ल कपड़ाक कि‍ञ्चित चाकर पट्टीमे लटकैत रहैत छैक। एकरा
महाली बेचबाक हेतु ताड़ीकेँ माटिक जाहि पैघ घैलमे एकत्र कयल जाइत छैक से
तौला ताड़ी रखबाक हेतु माटिक सामान्यि पात्र
कुण्डार ताड़ी रखबाक हेतु माटिक सामान्यै पात्र
कूँड़ा ताड़ी रखबाक हेतु माटिक सामान्यन पात्र
कटिया ग्राहककेँ ताड़ी लोटाक आकृतिक माटिक बासनमे देल जाइत छनि। एहि बासनकेँ
जोरबा (ग्रि) ग्राहककेँ ताड़ी लोटाक आकृतिक माटिक बासनमे देल जाइत छनि। एहि बासनकेँ
बररिया (ग्रि) ग्राहककेँ ताड़ी लोटाक आकृतिक माटिक बासनमे देल जाइत छनि। एहि बासनकेँ
गोलवाँ (ग्रि) ग्राहककेँ ताड़ी लोटाक आकृतिक माटिक बासनमे देल जाइत छनि। एहि बासनकेँ
नप्पाा ताड़ी नपबाक हेतु माटिक पात्र सभकेँ
नापा ताड़ी नपबाक हेतु माटिक पात्र सभकेँ
नपना ताड़ी नपबाक हेतु माटिक पात्र सभकेँ
गुड़की सबसँ छोट नपनाकेँ
गोलकी सबसँ छोट नपनाकेँ
अधचौठी गोलकीसँ दुन्नाे ताड़ी अँटऽवला नपानाकेँ
घचक्काे अधाचौठीक दुन्नाँ ताड़ी अँटऽवला नपनाकेँ
घचक्कीँ अधाचौठीक दुन्नाँ ताड़ी अँटऽवला नपनाकेँ
चौठी, अधाचौठीक दुन्नाँ ताड़ी अँटऽवला नपनाकेँ
घैला चारि चौठी ताड़ी अँटऽवला अत्य न्तन लघु आकृतिक घैलक सद़श नपनाकेँ
घैली चारि चौठी ताड़ी अँटऽवला अत्य न्तन लघु आकृतिक घैलक सद़श नपनाकेँ
बेचाही चारि चौठी ताड़ी अँटऽवला अत्य न्तन लघु आकृतिक घैलक सद़श नपनाकेँ
दोकानी नाम आकृ;तिक घैलीकेँ
बम्माक नाम आकृ;तिक घैलीकेँ
खजुरिया खजूरक ताड़ीकेँ
आकाश जल ताड़ीक हेतु
नीरा निशाक अवधिमे चूल निशाँविहीन ताड़ीकेँ
मिट्ठी ताड़ी निशाक अवधिमे चूल निशाँविहीन ताड़ीकेँ
खट्टी ताड़ी रौद लगलासँ ताड़ीमे फेन आबऽ लगैत छैक आ ओ निशाँकारक भऽ जाइत छैक। एहि ताड़ीकेँ
बैसक्खाक बैसाखा मासक फुलदोक ताड़ीकेँ
वसन्ती मासक फुलदोक ताड़ीकेँ
छेबब खजूरक गाछसँ ताड़ी चुअयबाक हेतु ओकर गर्दनि लगक भागकेँ गँहीर कटोरिक रूपमे छिलबाक क्रिया
पहटब तेसरा दिनपर ओहि भागकेँ छीलि पातर-पातर परत पृथक् करबाक क्रिया
जिभिया दू-तीन दिन पहटला उत्तर छीलल भागसँ खजूरक रस चूबऽ लगैत छैक। सभटा रस नीचा दिस एक ठामसँ चूबय तेँ छीलल भागक निचला भागमे जीहक आकृतिक बनबटि बना देल जाइत छैक जकरा
कमैनी-खटैनी ताड़क गाछसँ ताड़ी प्राइज़ करबाक हेतु ओहिपर चढि़कऽ पासीक धांगधुंग करबाक क्रिया
छोपब कमैनी-खटैनीक फलस्वसरूप ताड़मे और निकलब आरम्भै भऽ फेकि देबाक क्रिया
घमब छोपालाक बाद कटलाहा भागसँ ताड़क रस चूबऽ लगैत छैक। फुलदोक नेढ़ाक अग्रभागकेँ दूटा फट्ठीक सहायतासँ दाबिकऽ मोलायम कयल जाइत छैक तथा टुरनीपर कनेक्शन छओ लगा देल जाइत छक। सप्तातह भरि ई प्रयत्न। कयला उत्तर नेढ़ाक अग्रभागमे द्रव दृष्टिगोचर होयबाक क्रिया
बिसुखब ताड़सँ तीत-चारि मास धरि मास धरि निरन्तदर ताड़ी चूबैत रहैत छैक, मुदा खजूर सप्तारह भरिक बाद ताड़ी देब बन्दद कऽ दैत छैक। ताड़ी देब बन्दब करबाक क्रिया गाछक
गाद ताड़ीक मैलीकेँ
गदरी ताड़ीक मैलीकेँ
पाकब नीराकेँ खट्टी ताड़ीमे बदलबाक हेतु ओहिमे गदिक जोड़न देल जाइत छैक। जोड़न देलासँ ताड़ीक निशाँकारक होयबाक क्रिया
पसीखाना ताडी बेचबाक स्था न
तड़ीखाना ताडी बेचबाक स्था न
ताड़ीखाना ताडी बेचबाक स्था न
पीआफिस आइकाल्हि एहि हेतु
पी.एन. कालेज आइकाल्हि एहि हेतु
चखना ताड़ीक संगे खाद्य चटकार पदार्थकँज
चिखना ताड़ीक संगे खाद्य चटकार पदार्थकँज
डल्ली ताड़ीक उत्प दनमे सह-उत्पाछदनक रूपमे ताड़ ओ खजूरक
कूच डल्ली क जडि़वला भागकेँ चूडि़ कऽ
कूची डल्ली क जडि़वला भागकेँ चूडि़ कऽ
कुच्चीत डल्लीीक जडि़वला भागकेँ चूडि़ कऽ
पंखा एहिसँ जाँताक चिक्किस आदि झाड़ल जाइत छैक। ताड़क डल्लीआ ओ पातसँ बनल हवा करबाक साधनकेँ
तराय ताड़क पातकेँ चीडि़कऽ‍ बिनला पर ओछयबाक साधन बनाओल जाइत छैक। एकरा
बीअ (य) नि ताड़क पात केँ बीनि कऽ हवा करबाक साधन
चटाइ खजूरक पातकेँ बीनिकऽ बनाओल ओछयबाक साधनकेँ
पटिया खजूरक पातकेँ बीनिकऽ बनाओल ओछयबाक साधनकेँ
तडि़पत ताड़क पातकेँ
पाशिक पासी जाति यद्यपि ताड़ीक व्यीवसाय करैत अछि मुदा एकर जातीय नामक मूल
हसेल पासीमे ई प्रवृति एखनहुँ पाओल जाइत अछि। ई पंछीक शिकारक हेतु जाल (पाश) क उपयोग करैत अछि आ गाछपर ओकरा लगाकऽद पंछी सभकेँ फसबैत अछि। एकर जालकेँ
बादुर, पलंका, खोपैल, हरियल, बगेरी, परबा हसेल जालक सहायतासँ पासी
कबूतर, सिल्लीी, बटेर हसेल जालक सहायतासँ पासी
मद्य सूड़ी ओ कलवार जाति
मदिरा सूड़ी ओ कलवार जाति
गुड़ मदिरा बनबायक हेतु मुख्य आधार अछि गुड़ ओ महुआ।
मीठा मदिरा बनबायक हेतु मुख्य आधार अछि गुड़ ओ महुआ।
मिट्ठा मदिरा बनबायक हेतु मुख्य आधार अछि गुड़ ओ महुआ।
महु कुसियारक रससँ बनाओल जाइत अछि।
महुआ कुसियारक रससँ बनाओल जाइत अछि।
केरा, बेल, समतोला, नारंगी, आम, कटहर चिक्कीस तथा भातकेँ सड़ाकऽ सेहो मदिरा बनेत अछि। सुगन्धित ओ स्वाादु मदिरा बनयबाक हेतु
दारू देसी मदिराकेँ
शराब ओ आयातित मदिराकेँ
मधु एकर प्राचीन नाम
दारू चुआययब एकर निर्माणक क्रिया
भट्ठी दारू चुयबाक ओ बेचबाक स्थायनकेँ
दारूभट्ठी दारू चुयबाक ओ बेचबाक स्थायनकेँ
गद्दी दारू चुयबाक ओ बेचबाक स्थायनकेँ
कलाली दारू चुयबाक ओ बेचबाक स्थायनकेँ
माट गुड़केँ पानिमे महुआ अथवा अन्य पदार्थक संग सड़यबाक हेतु माटिक पैघ तौलाकेँ
ड्राम सम्प्रपति एकर स्थामनपर व्यावहृत लोहक चदराक पैघ बेलनाकार बासनकेँ
खडुआ ड्राममे देल पदार्थकेँ लारबाक हेतु बाँसक पैघ दंडक अग्रभागमे ठोकल चाकर तकथायुक्त औजारकेँ
देग ड्राममे तैयार पदार्थकेँ तामक पैघ तौलामे राखि गर्म कयल जाइत छैक। एकरा
डेग ड्राममे तैयार पदार्थकेँ तामक पैघ तौलामे राखि गर्म कयल जाइत छैक। एकरा
डिमनी डेगक ऊपर माटि अथवा तामक छोट सन पेनीविहीन कोहा राखल रहैत छैक। एकरा
डिबनी डेगक ऊपर माटि अथवा तामक छोट सन पेनीविहीन कोहा राखल रहैत छैक। एकरा
औन्ह डिमनीक ऊपर माटि अथवा तामक कटियाक आकृतिक बासन औन्हिकऽ राखल रहैत छैक। एकरा
तामी तामक रहने एकरा
तमियाँ तामक रहने एकरा
नऽर औन्ह क पार्श्व मे एकटा छेद रहैत छैक। छेदमे एकटा तामक पैघ ओ फोंक दंड लागल रहैत छैक। एकरा
नऽरी औन्ह क पार्श्वछमे एकटा छेद रहैत छैक। छेदमे एकटा तामक पैघ ओ फोंक दंड लागल रहैत छैक। एकरा
नल्ली औन्हीक पार्श्व।मे एकटा छेद रहैत छैक। छेदमे एकटा तामक पैघ ओ फोंक दंड लागल रहैत छैक। एकरा
पौनल्लीड औन्ह्क पार्श्व।मे एकटा छेद रहैत छैक। छेदमे एकटा तामक पैघ ओ फोंक दंड लागल रहैत छैक। एकरा
पनाली औन्हीक पार्श्व।मे एकटा छेद रहैत छैक। छेदमे एकटा तामक पैघ ओ फोंक दंड लागल रहैत छैक। एकरा
पाइप औन्ह क पार्श्व।मे एकटा छेद रहैत छैक। छेदमे एकटा तामक पैघ ओ फोंक दंड लागल रहैत छैक। एकरा
चिमनी पौनल्लीडक दोसर छोर चूल्हा सँ दूरपर राखल एकटा औन्ह मे सम्बरद्ध रहैत छैक। एहि औन्हबकेँ
चोंगर पौनल्लीाक दोसर छोर चूल्हाऔसँ दूरपर राखल एकटा औन्ह मे सम्बरद्ध रहैत छैक। एहि औन्हबकेँ
डिंगरी चोंगर एकटा छोट सन तामक तौलापर औन्हछल रहैत छैक। एहि तौलाकेँ
मधनरी डिंगरीक निचला भागमे एकआ नली लागल रहैत छैक । एकरा
छनान मधनरीक दोसर छोर माटिमे खूनल खाधिमे राखल एकटा बासनक मुँहपर खुलैत छैक। एहि बासनकेँ
टाँक मधनरीक दोसर छोर माटिमे खूनल खाधिमे राखल एकटा बासनक मुँहपर खुलैत छैक। एहि बासनकेँ
मटुका मधनरीक दोसर छोर माटिमे खूनल खाधिमे राखल एकटा बासनक मुँहपर खुलैत छैक। एहि बासनकेँ
नेट डिंगरी नादिक आकृतिक लोहक पैघ बासनमे राखल रहैत छैक। एहि बासनमे ठंढा पानि भरल रहैत छैक1 नरी ओ औन्हहक मिलनविन्दु पर दूनूकेँ परस्पर
भट्ठी डेगकेँ गर्म करबाक हेतु व्यसवहृत चूल्हिकेँ
सऽरी एहिसँ राखल निकालबाक हेतु लोहक पैघ करऽछुकेँ
पीपा बेचबाक हेतु दारू काठक ढोलक आकृतिक बासनमे राखल जाइत छैक। एहिमे दारू भरबाक हेतु उपरका भागमे एकटा छेद रहैत छैक आ दारू निकालबाक हेतु निचला भागमे एकटा नली लागल रहैत छैक। एहि बासनकेँ
टिप्पाै बेचबाक हेतु दारू काठक ढोलक आकृतिक बासनमे राखल जाइत छैक। एहिमे दारू भरबाक हेतु उपरका भागमे एकटा छेद रहैत छैक आ दारू निकालबाक हेतु निचला भागमे एकटा नली लागल रहैत छैक। एहि बासनकेँ
टोंटी एकर निचला नलीकेँ
करबा दारू रखबाक हेतु सुराहीक आकृतिक चीनी मिट्टीक बासनकेँ
कराबा दारू रखबाक हेतु सुराहीक आकृतिक चीनी मिट्टीक बासनकेँ
करेबा दारू रखबाक हेतु सुराहीक आकृतिक चीनी मिट्टीक बासनकेँ
टिन आइकाल्हि लोहक चदरा ओ प्लालस्टिकसँ बनल
नप्पा् दारू नपबाक पात्रकेँ
नपना दारू नपबाक पात्रकेँ
सेरही, पार्श्वबमे एकरा पकड़बाक हेतु चदरेक मूठ बनल रहैत छैक। एक सेर दारू अँटऽ वला नपना
असेरा आधा सेरवला
पौआ पाओ भरिवला
कुलफी दारू पीबाक हेतु माटिक छोअ पात्र सभ
कुल्फीी, चुक्कहड़, चुकड़ी, कपटी, गुड़की, कुल्हिया दारू पीबाक हेतु माटिक छोअ पात्र सभ
बोतल शीशाक नाम आकृतिक छोट मुँहवला बासन सभ सेहो दारू पीबाक हेतु व्यभवहृत होइत अछि। एकरा
कसौंजी दारू बनयबाक हेतु ड्राममे पानि ओ गुड़ राखि संचालित कऽ घोरि देल जाइत छैक। गुड़क घोरमे गुड़ेक बराबर तौलमे महुआ धऽ देल जाइछ। गुड़ ओ महुआक एहि मिश्रणकेँ
कसौंझी दारू बनयबाक हेतु ड्राममे पानि ओ गुड़ राखि संचालित कऽ घोरि देल जाइत छैक। गुड़क घोरमे गुड़ेक बराबर तौलमे महुआ धऽ देल जाइछ। गुड़ ओ महुआक एहि मिश्रणकेँ
कसौनी दारू बनयबाक हेतु ड्राममे पानि ओ गुड़ राखि संचालित कऽ घोरि देल जाइत छैक। गुड़क घोरमे गुड़ेक बराबर तौलमे महुआ धऽ देल जाइछ। गुड़ ओ महुआक एहि मिश्रणकेँ
भरती करब कसौंझीकेँ चौबीस घंटाक बाद पुन: लारल जाइत छैक आ आवश्यजतानुसार अधिक पातर करबाक हेतु एहिमे पानि मिला देल जाइत छैक। एहि प्रक्रियाकेँ
पाकल दू-तीन दिन धरि भरती करैत रहलपर कसौंझीमे फेन आबऽ लगैत छैक आ एहिसँ सड़ाइन गंध आबऽ लगैत छैक। एहि स्थितिमे कसौंझीकेँ
रास बूझल जाइत छैक आ ई
बोझाइ करब रासकेँ डेगमे देबाक क्रिया
अरक रासक सार तत्त्व जाहिसँ दारूक उत्पासदन होइछ, से
अर्क रासक सार तत्त्व जाहिसँ दारूक उत्पासदन होइछ, से
दारू डेगमे देल रासकेँ गर्म कयलासँ ओकर अर्क भाफक रूपमे पौनल्लीँ होइत चोंगरमे जा कऽ ठंढाइत छैक आ द्रव रूपमे मधनरी होइत छनानमे चुबैत छैक। एही द्रवकेँ
डाढ़ा डेगमे बचल अर्कविहीन तरल पदार्थकेँ
नेङरा डेगमे बचल अर्कविहीन तरल पदार्थकेँ
गोरा डेगमे बचल अर्कविहीन तरल पदार्थकेँ
सीठ एहिमे पुनः महुआ दऽ रस तैयार कयल जाइत छैक। डेगमे बचल महुआ आदिक ठोस अवशेषकेँ
सीठी एहिमे पुनः महुआ दऽ रस तैयार कयल जाइत छैक। डेगमे बचल महुआ आदिक ठोस अवशेषकेँ
सिट्ठी एहिमे पुनः महुआ दऽ रस तैयार कयल जाइत छैक। डेगमे बचल महुआ आदिक ठोस अवशेषकेँ
कस महु ओ गुड़क श्रवणसँ बनल दारूकँम
ठर्रा महु ओ गुड़क श्रवणसँ बनल दारूकँम
साजन दारूकेँ पातर करबाक हेतु ओहिमे मिलाओल पानिकेँ
छावन दारूकेँ पातर करबाक हेतु ओहिमे मिलाओल पानिकेँ
दोकनी अत्यीधिक पातर कयल दारूकेँ
दोबारा दोकानीसँ कम पातर दारूकेँ
सौंफी दोबारासँ मोट दारूकेँ
सेबारा दोबारासँ मोट दारूकेँ
कसमौर सौंफीसँ कड़ा दारूकेँ
महरदार कसमौरसँ कड़ा दारूकेँ
झक्कास दारूकेँ ताड़ीक संगे फेंटिकऽ पीबाक सेहो प्रचलन अछि। ताड़ी ओ दारूक मिश्रणकेँ
झग्गा दारूकेँ ताड़ीक संगे फेंटिकऽ पीबाक सेहो प्रचलन अछि। ताड़ी ओ दारूक मिश्रणकेँ
भट्ठीदार भट्ठी चलौनिहारकेँ
भट्ठीमान भट्ठी चलौनिहारकेँ
भटबाह भट्ठी चलौनिहारकेँ
गद्दीवान भटबाहक मजदूरकेँ
अपकारी दारूक सरकारी गोदामकेँ
आबकारी दारूक सरकारी गोदामकेँ
पियक्कर दारू पिउनिहारकेँ
पियाक दारू पिउनिहारकेँ
शराबी दारू पिउनिहारकेँ
दरुपीबा दारू पिउनिहारकेँ
निशाँ दारू पीला उत्तर शारीरिक ओ मानसिक विकृतिकेँ
चिखना दारू पीबाक क्रममे व्यिवहृत चटकार खाद्यकेँ
चखना दारू पीबाक क्रममे व्यमवहृत चटकार खाद्यकेँ
चूरि (डि़) स्त्रीेगणलो‍कनि पहुँचीपर एकटा वलयाकार सामग्री सोहाग (सौभाग्यग) क प्रतीकक रूपमे धारण करैत छथि। एकरा
चुरिया स्त्री गणलो‍कनि पहुँचीपर एकटा वलयाकार सामग्री सोहाग (सौभाग्यग) क प्रतीकक रूपमे धारण करैत छथि। एकरा
चुडि़ला स्त्रीागणलो‍कनि पहुँचीपर एकटा वलयाकार सामग्री सोहाग (सौभाग्यग) क प्रतीकक रूपमे धारण करैत छथि। एकरा
चुलि स्त्रीरगणलो‍कनि पहुँचीपर एकटा वलयाकार सामग्री सोहाग (सौभाग्यग) क प्रतीकक रूपमे धारण करैत छथि। एकरा
लहठी ई प्रसाधन सामग्री काच, रबर, लाह ओ अन्यस कृत्रिम रसायनसँ बनेत अछि। लाहक चूड़ीकेँ
लाह लाहक चूड़ी बनयबाक मुख्य आधार सामग्री की‍टविशेष द्वारा उत्प न्नक पदार्थ
लाख लाहक चूड़ी बनयबाक मुख्य आधार सामग्री की‍टविशेष द्वारा उत्प न्नक पदार्थ
चपड़ा आइकल्हि लहेरी
चौड़ी आइकल्हि लहेरी
रंजक चपड़ा ओ चौड़ामे अनेक प्रकारक वस्तु फेंटल जाइत छैक। मिसरीक ऐला जकाँ एकटा पदार्थ
रंजन चपड़ा ओ चौड़ामे अनेक प्रकारक वस्तु फेंटल जाइत छैक। मिसरीक ऐला जकाँ एकटा पदार्थ
पेमर चपड़ा ओ चौड़ीमे पीयर रंगक एकटा पाउडर सेहो फेंटल जाइत छैक। एकरा
रंगीन चपड़ाकेँ रंगीन करबाक हेतु ओहिमे सफेद, गुलाबी, बदामी, फिरोजी, आसमानी, हरियर, बैगनी, नारंगी, चम्पनइ आदि विविध रंगक चूर्ण सेहो फेंटल जाइत छैक। रंगमिश्रित गलल चपड़ाक पिंडकेँ ठंढाकऽ एकटा खरहीक अग्रभागमे साटि आगिपर गर्म कऽचूड़ीपर ओकर पातर परतक लेप चढ़ाय चूड़ीकेँ
नग लाहक चूड़ीमे सुन्दपरताक हेतु बाह्य भागमे शीशा ओ प्लादस्टिकक विभिन्नी आकृतिक टुकड़ी सभ साटल जाइत छैक। एहि टुकड़ी सभकेँ
नगीना लाहक चूड़ीमे सुन्द रताक हेतु बाह्य भागमे शीशा ओ प्लादस्टिकक विभिन्नी आकृतिक टुकड़ी सभ साटल जाइत छैक। एहि टुकड़ी सभकेँ
मीना लाहक चूड़ीमे सुन्दएरताक हेतु बाह्य भागमे शीशा ओ प्लादस्टिकक विभिन्नी आकृतिक टुकड़ी सभ साटल जाइत छैक। एहि टुकड़ी सभकेँ
हीरा लाहक चूड़ीमे सुन्द रताक हेतु बाह्य भागमे शीशा ओ प्लादस्टिकक विभिन्नी आकृतिक टुकड़ी सभ साटल जाइत छैक। एहि टुकड़ी सभकेँ
काज लाहक चूड़ीमे सुन्दआरताक हेतु बाह्य भागमे शीशा ओ प्लादस्टिकक विभिन्नी आकृतिक टुकड़ी सभ साटल जाइत छैक। एहि टुकड़ी सभकेँ
जौ, आकृतिक नगकेँ
जौ के दाइल, चीरल जौक आकृतिक नगकेँ
चउँकी, चौखूट नगकेँ
हाड़ी बेलनाकार नगकेँ
पोत बेलनाकार नगकेँ
हरबा, बेलनाकार नगकेँ
नलिया छिद्रयुक्तग नाम नगकेँ
ललिया छिद्रयुक्तग नाम नगकेँ
पाइप छिद्रयुक्तग नाम नगकेँ
मोती ओ मोतीक आकृतिक नगकेँ
पन्नीी चौड़ीसँ बनाओल चूड़ीमे अनेक रंगक चमकसँ युक्तड कागत साटल जाइत छैक जकरा
डाक धातुक अत्यकन्त पातर पन्नी केँ
पिढि़या चपड़ा ओ चौड़ीकेँ गर्म करबाक हेतु लोहियाक एवं चौड़ीकेँ कूटिकऽ पांतर करबाक हेतु हथौड़ीक प्रयोजन होइत छैक। पघिलला उत्तर गील चपड़ा ओ चौड़ीकेँ सुसुमेमे दण्डााकर स्वुरूप देबाक हेतु एवं ओहि दण्डडसँ पातर-पातर छड़ निकालबाक हेतु व्य वहृत बेलबाक काष्ठािधार
हत्थाा बेलबाक हेतु काठक नोंखगर मुङरीकेँ
सिम्हाे चपड़ा ओ चौड़ीक बेलनाकार दण्डीकेँ
सुम्हाओ चपड़ा ओ चौड़ीक बेलनाकार दण्डीकेँ
टिकिया चपड़ा ओ चौड़ीक बेलनाकार दण्डीकेँ
ढाकन सुम्हाओकेँ पघिलाकऽ नमनशील करबाक हेतु लकड़ीक कोइलाक आगि देखाओल जाइत छैक। आगि रखबाक माटिक बासनकेँ
ढकना सुम्हामकेँ पघिलाकऽ नमनशील करबाक हेतु लकड़ीक कोइलाक आगि देखाओल जाइत छैक। आगि रखबाक माटिक बासनकेँ
अंगैठा सुम्हा केँ पघिलाकऽ नमनशील करबाक हेतु लकड़ीक कोइलाक आगि देखाओल जाइत छैक। आगि रखबाक माटिक बासनकेँ
अंगैठी सुम्हा केँ पघिलाकऽ नमनशील करबाक हेतु लकड़ीक कोइलाक आगि देखाओल जाइत छैक। आगि रखबाक माटिक बासनकेँ
कुकाठी फुकबाक हेतु प्रयुक्त बाँस अथवा लोहक फोंफीकेँ
फुखाठी फुकबाक हेतु प्रयुक्त बाँस अथवा लोहक फोंफीकेँ
नरी फुकबाक हेतु प्रयुक्त बाँस अथवा लोहक फोंफीकेँ
नारी फुकबाक हेतु प्रयुक्त बाँस अथवा लोहक फोंफीकेँ
लारी फुकबाक हेतु प्रयुक्त बाँस अथवा लोहक फोंफीकेँ
डऽर सुम्हाोसँ निकालल पातर दंडकेँ वृत्ताकार मोडि़ कऽ जोड़लापर बनल चूड़ीक आरंभिक स्वऽरूपकेँ
कून डऽरकेँ गोल करबाक हेतु काठक जाहि बेलनाकार औजारपर कसल जाइत छैक, से
कुन्दछ डऽरकेँ गोल करबाक हेतु काठक जाहि बेलनाकार औजारपर कसल जाइत छैक, से
पनिकट्टा पन्नी् कटबाक हेतु व्यहवहृत रन्दाहक फल्ली्केँ
पनिपोतना पन्नीतकेँ सिमेन्ट क जाहि चाकर आधारपर राखि काटल जाइत छैक से
मँजैया डऽरपर पन्नीा बैसेबाक क्रिया
सुरड़ा कूनपर चढ़ाओल डऽरपर रंगकेँ सर्वत्र समान मोटाइक करबाक हेतु जाहि खरहीक टुकड़ीसँ डऽरपर दबाब दैत कूनकेँ नचाओल जाइत छैक, से
चिड़नी रंग अथवा पन्नीँ लगओलाक बाद परस्पथर सम्बओद्ध डऽर सभकेँ पृथक्-पृथक् करबाक हेतु जाहि लोहक पत्तरक व्यकवहार होइत छैक, से
खोलनी गर्म डऽर सभ परस्पवर सटि गेलापर ओकरा सभकेँ पृथक् करबाक हेतु व्यकवहृत पत्तरकेँ
कटैया खोलनी द्वारा डऽर सभकेँ पृथक् करबाक क्रिया
खूरा खोलनी द्वारा डऽर सभकेँ पृथक् करबाक क्रिया गोल डऽर चपता करबाक हेतु गर्ममे ओकरा लोहाक जाहि मोट पत्तरक सहायतासँ दबाओल जाइत छै से
जोड़ दूनू हाथमे पहिरबा योग्यँ चूड़ीक समूहकेँ
खऽल लगायब जोड़ लगयबाक क्रिया
खऽल जोड़ लागल चूड़ीक समूहकेँ
बेखऽल जोड़सँ कम चूड़ीक समूहकेँ
नगवला चूड़ी जाहि चूड़ीपर नग बैसाओल रहैत छेक ओकरा
गोगुआ खोधामासँ युक्तग चूड़ीकेँ
सिनहुली सोनाक रंगक पीताभ चूड़ीकेँ
सोनहुली सोनाक रंगक पीताभ चूड़ीकेँ
सोनौली सोनाक रंगक पीताभ चूड़ीकेँ
सुगापंखी हरिहर रंगक चूड़ीकेँ
तीसीफूल नीलवर्णक चूड़ीकेँ
कतरी अत्य न्तँ मेँही ओ चप्पीत चूड़ीकेँ
बाँही अत्यीन्तँ मेँही ओ चप्पीत चूड़ीकेँ
चैती तीन चारिटा कतरीकेँ कऽ बनाओल चूड़ीकेँ
दरोबी एके रंगक पन्नीीसँ युक्ती चूड़ीकेँ
लगौरी मोट दरोबीकेँ
जालबन्दीी जालक आकृतिक खोधामासँ युक्तु गोगुआ चूड़ीकेँ
छन उत्तल खोधामावला चूड़ीकेँ
छन उत्तल खोधामावला चूड़ीकेँ
बड़हरी बड़हरक फऽरक सदृश उत्तल ओअवतल खोधामासँ चुक्तत चूड़ीकेँ
बसन्तीख दूर-दूरपर एकटा कऽ नग बैसाओल चूड़ीकेँ
तिननगिया कनेक-कनेक अन्तारपर तीनटा कऽ नग बैसाओल चूड़ीकेँ
अगुआ एक हाथमे योग्यी चूड़ीक संमूहमे अग्रभाग ओ पृष्ठक भागक हेतु अपेक्षाकृत मोट चूड़ीकेँ क्रमश:
अगेली एक हाथमे योग्य चूड़ीक संमूहमे अग्रभाग ओ पृष्ठच भागक हेतु अपेक्षाकृत मोट चूड़ीकेँ क्रमश:
पछुआ आ
पछेली आ
पिछेली आ
सुरकी मध्यीवर्ती अपेक्षाकृत पातर चूड़ी सभकेँ
सुर्खी मध्यखवर्ती अपेक्षाकृत पातर चूड़ी सभकेँ
पहटा मध्य वर्ती अपेक्षाकृत पातर चूड़ी सभकेँ
बाला अगुआक स्था नपर खूब मोट आकृतिक कामदार चूड़ी सेहो धारण कयल जाइत छैक। एकरा
बलिया अगुआक स्थाैनपर खूब मोट आकृतिक कामदार चूड़ी सेहो धारण कयल जाइत छैक। एकरा
बलया अगुआक स्थाैनपर खूब मोट आकृतिक कामदार चूड़ी सेहो धारण कयल जाइत छैक। एकरा
छगोटिया एक हाथमे पहिरबा योग्ये छओ गोट चूड़ीक समूहकेँ
अठगोटिया आठ गोट चूड़ीक समूहकेँ
साज दू-तीन सुरकीक अन्तररपर देल कामदार चूड़ीकेँ
बन भिन्नर-भिन्न् दू-दू टा सुरकीसँ बनल चूड़ीक समूहकेँ
बन्दच भिन्नू-भिन्न् दू-दू टा सुरकीसँ बनल चूड़ीक समूहकेँ
सुखपुरिया लाल रंगक अगुआ-पछुआ ओ पीयर रंगक सुरकीस युक्तु चुड़ीक जोड़केँ
कड़ा धियापुताकेँ पहिरयबाक हेतु मोट ओ गोल चुड़ीकेँ
मट्ठा (सं. कटक)
माठा (सं. कटक)
मठबा (सं. कटक)
मठिया (सं. कटक)
कंगन सयानक हेतु कामदार कड़ाकेँ
कग्गकन सयानक हेतु कामदार कड़ाकेँ
कंगना सयानक हेतु कामदार कड़ाकेँ
कंगनी सयानक हेतु कामदार कड़ाकेँ
बौखा सयानक हेतु कामदार कड़ाकेँ
अँकुसी खुलल मुँहवला कड़ाक प्रभेद जकर दूनू छोर आँकुस जकाँ मोड़ल रहैत छैक, से
बघनहा बाघक मुखाकृति हेतु लाहक एकटा खेलओना
बङलहा बाघक मुखाकृति हेतु लाहक एकटा खेलओना
बङलाहा बाघक मुखाकृति हेतु लाहक एकटा खेलओना
लटटोपट्टो धियापुताक हेतु लाहक एकटा खेलओना
गूआमाला विआहमे लाहक डमरूक आकृतिक एकटा गहना वर-कनिञाक गरामे पहिरयबाक परम्पररा अछि1 एहि गहनाकेँ
चूड़ी चढ़ायब हाथमे चूड़ी पहिरयबाक क्रिया
चूड़ी फूटब हाथसँ चूड़ी बहार करब चूड़ी उतारब होइछ।
चूड़ी फोड़ब ओ
जुग लहेरी द्वारा बिनु मूल्यउक जे चूड़ी शुभकानाक रूपमे देल जाइत छैक। ओकरा
सोहाग लहेरी द्वारा बिनु मूल्य क जे चूड़ी शुभकानाक रूपमे देल जाइत छैक। ओकरा
सोहाग लहेरी द्वारा बिनु मूल्य क जे चूड़ी शुभकानाक रूपमे देल जाइत छैक। ओकरा
सोहाग-भाग लहेरी द्वारा बिनु मूल्य क जे चूड़ी शुभकानाक रूपमे देल जाइत छैक। ओकरा
तोरा अनेक जोड़ चूड़ीकेँ एक ठाम बान्हि कऽ बनाओल समूहकेँ
लाहब कटैल द्वारा माटि, लोह आदिक बासनक छेदकेँ रेसबाक क्रिया
लहाठब कटैल द्वारा माटि, लोह आदिक बासनक छेदकेँ रेसबाक क्रिया
माल चमारक उपयोगी पशु सभकेँ
माल-जाल चमारक उपयोगी पशु सभकेँ
मवेशी चमारक उपयोगी पशु सभकेँ
माल-मवेशी चमारक उपयोगी पशु सभकेँ
चाम प्राणी मात्रक त्वसचाकेँ
चमड़ी प्राणी मात्रक त्वसचाकेँ
चरसा प्राणी मात्रक त्वसचाकेँ
खाल सद्य: ओदारल चामकेँ
खल्ला सद्य: ओदारल चामकेँ
खाला सद्य: ओदारल चामकेँ
खलड़ा सद्य: ओदारल चामकेँ
छाल सुक्ख ल खालकेँ
छलरी भेड़ी, बकरी आदि पशुक अपेक्षाकुत छौट चामकेँ
खलरी भेड़ी, बकरी आदि पशुक अपेक्षाकुत छौट चामकेँ
चमड़ा व्याावसायिक चामकेँ
डाङर मृतप्राय एवं मुइल मालकेँ
गैना मालक मुइल छोट बच्चााकेँ
लाटि अधेर भऽ मुइल मालकेँ
लाइट अधेर भऽ मुइल मालकेँ
मुरदार मुइल मालक चामकेँ
मुरदारी मुइल मालक चामकेँ
गौखा मुइल गाइक चामकेँ
गोइटा मुइल गाइक चामकेँ
भेंसोटा मुइल महींसक चामकेँ
भैंसौटा मुइल महींसक चामकेँ
भैंसोठा मुइल महींसक चामकेँ
भैंसौठा मुइल महींसक चामकेँ
गौकस्सीी जीवित गाय- महींस आदिकेँ मशीन द्वारा कटबाक व्याीपारकेँ
लेदर गौकस्सीवसँ प्राप्त‍ चामकेँ मशीन द्वारा परिशुद्ध कयला उत्तर
चरकी उज्ज र रगं कयल लेदरकेँ
साम्बार पीयर रंगसँ युक्तगकेँ
लेदर बोर्ड आयातित चमड़ाक सबसँ मोट प्रभेद
काफ बड़दक चमड़ाकेँ
फाइबर महींसक चमकड़ाकेँ
फोम फाइबर मोलायम फाइबरकेँ
खलब मुइल मालक छोड़ैबाक क्रिया
चमरखल्लाक खलबाक स्थ लकेँ
चमड़ाही खलबाक स्थ लकेँ
संगिहाट चमरखल्लाथ धरि पशुकेँ लऽ जयबाक हेतु प्रयुक्तध वंशदंडकेँ
संगियाँठ चमरखल्ला धरि पशुकेँ लऽ जयबाक हेतु प्रयुक्तध वंशदंडकेँ
साइंग चमरखल्लात धरि पशुकेँ लऽ जयबाक हेतु प्रयुक्तध वंशदंडकेँ
सगैरठा चमरखल्लात धरि पशुकेँ लऽ जयबाक हेतु प्रयुक्तध वंशदंडकेँ
सङरैठा चमरखल्लात धरि पशुकेँ लऽ जयबाक हेतु प्रयुक्तध वंशदंडकेँ
ढाठ चमरखल्ला धरि पशुकेँ लऽ जयबाक हेतु प्रयुक्तध वंशदंडकेँ
बनछोलब छूरीसॅं चामकेँ उपयुक्त स्थांन सभपर कटबाक क्रिया
बनछोल करब छूरीसॅं चामकेँ उपयुक्त स्थांन सभपर कटबाक क्रिया

No comments:

Post a Comment

"विदेह" प्रथम मैथिली पाक्षिक ई पत्रिका http://www.videha.co.in/:-
सम्पादक/ लेखककेँ अपन रचनात्मक सुझाव आ टीका-टिप्पणीसँ अवगत कराऊ, जेना:-
1. रचना/ प्रस्तुतिमे की तथ्यगत कमी अछि:- (स्पष्ट करैत लिखू)|
2. रचना/ प्रस्तुतिमे की कोनो सम्पादकीय परिमार्जन आवश्यक अछि: (सङ्केत दिअ)|
3. रचना/ प्रस्तुतिमे की कोनो भाषागत, तकनीकी वा टंकन सम्बन्धी अस्पष्टता अछि: (निर्दिष्ट करू कतए-कतए आ कोन पाँतीमे वा कोन ठाम)|
4. रचना/ प्रस्तुतिमे की कोनो आर त्रुटि भेटल ।
5. रचना/ प्रस्तुतिपर अहाँक कोनो आर सुझाव ।
6. रचना/ प्रस्तुतिक उज्जवल पक्ष/ विशेषता|
7. रचना प्रस्तुतिक शास्त्रीय समीक्षा।

अपन टीका-टिप्पणीमे रचना आ रचनाकार/ प्रस्तुतकर्ताक नाम अवश्य लिखी, से आग्रह, जाहिसँ हुनका लोकनिकेँ त्वरित संदेश प्रेषण कएल जा सकय। अहाँ अपन सुझाव ई-पत्र द्वारा ggajendra@videha.com पर सेहो पठा सकैत छी।

"विदेह" मानुषिमिह संस्कृताम् :- मैथिली साहित्य आन्दोलनकेँ आगाँ बढ़ाऊ।- सम्पादक। http://www.videha.co.in/
पूर्वपीठिका : इंटरनेटपर मैथिलीक प्रारम्भ हम कएने रही 2000 ई. मे अपन भेल एक्सीडेंट केर बाद, याहू जियोसिटीजपर 2000-2001 मे ढेर रास साइट मैथिलीमे बनेलहुँ, मुदा ओ सभ फ्री साइट छल से किछु दिनमे अपने डिलीट भऽ जाइत छल। ५ जुलाई २००४ केँ बनाओल “भालसरिक गाछ” जे http://www.videha.com/ पर एखनो उपलब्ध अछि, मैथिलीक इंटरनेटपर प्रथम उपस्थितिक रूपमे अखनो विद्यमान अछि। फेर आएल “विदेह” प्रथम मैथिली पाक्षिक ई-पत्रिका http://www.videha.co.in/पर। “विदेह” देश-विदेशक मैथिलीभाषीक बीच विभिन्न कारणसँ लोकप्रिय भेल। “विदेह” मैथिलक लेल मैथिली साहित्यक नवीन आन्दोलनक प्रारम्भ कएने अछि। प्रिंट फॉर्ममे, ऑडियो-विजुअल आ सूचनाक सभटा नवीनतम तकनीक द्वारा साहित्यक आदान-प्रदानक लेखकसँ पाठक धरि करबामे हमरा सभ जुटल छी। नीक साहित्यकेँ सेहो सभ फॉरमपर प्रचार चाही, लोकसँ आ माटिसँ स्नेह चाही। “विदेह” एहि कुप्रचारकेँ तोड़ि देलक, जे मैथिलीमे लेखक आ पाठक एके छथि। कथा, महाकाव्य,नाटक, एकाङ्की आ उपन्यासक संग, कला-चित्रकला, संगीत, पाबनि-तिहार, मिथिलाक-तीर्थ,मिथिला-रत्न, मिथिलाक-खोज आ सामाजिक-आर्थिक-राजनैतिक समस्यापर सारगर्भित मनन। “विदेह” मे संस्कृत आ इंग्लिश कॉलम सेहो देल गेल, कारण ई ई-पत्रिका मैथिलक लेल अछि, मैथिली शिक्षाक प्रारम्भ कएल गेल संस्कृत शिक्षाक संग। रचना लेखन आ शोध-प्रबंधक संग पञ्जी आ मैथिली-इंग्लिश कोषक डेटाबेस देखिते-देखिते ठाढ़ भए गेल। इंटरनेट पर ई-प्रकाशित करबाक उद्देश्य छल एकटा एहन फॉरम केर स्थापना जाहिमे लेखक आ पाठकक बीच एकटा एहन माध्यम होए जे कतहुसँ चौबीसो घंटा आ सातो दिन उपलब्ध होअए। जाहिमे प्रकाशनक नियमितता होअए आ जाहिसँ वितरण केर समस्या आ भौगोलिक दूरीक अंत भऽ जाय। फेर सूचना-प्रौद्योगिकीक क्षेत्रमे क्रांतिक फलस्वरूप एकटा नव पाठक आ लेखक वर्गक हेतु, पुरान पाठक आ लेखकक संग, फॉरम प्रदान कएनाइ सेहो एकर उद्देश्य छ्ल। एहि हेतु दू टा काज भेल। नव अंकक संग पुरान अंक सेहो देल जा रहल अछि। विदेहक सभटा पुरान अंक pdf स्वरूपमे देवनागरी, मिथिलाक्षर आ ब्रेल, तीनू लिपिमे, डाउनलोड लेल उपलब्ध अछि आ जतए इंटरनेटक स्पीड कम छैक वा इंटरनेट महग छैक ओतहु ग्राहक बड्ड कम समयमे ‘विदेह’ केर पुरान अंकक फाइल डाउनलोड कए अपन कंप्युटरमे सुरक्षित राखि सकैत छथि आ अपना सुविधानुसारे एकरा पढ़ि सकैत छथि।
मुदा ई तँ मात्र प्रारम्भ अछि।
अपन टीका-टिप्पणी एतए पोस्ट करू वा अपन सुझाव ई-पत्र द्वारा ggajendra@videha.com पर पठाऊ।

'विदेह' २२५ म अंक ०१ मई २०१७ (वर्ष १० मास ११३ अंक २२५)

ऐ  अंकमे अछि :- १. संपादकीय संदेश २. गद्य २.१. १. राजदेव मण्‍डल -  दूटा बीहैन क था २. रबीन्‍द्र नारायण मिश...