Friday, May 15, 2009

मिथिला विश्व

2.5. की छि

बच्चा सं पुछियैन त कहै छैथ स्कूल
मुनि सं पुछला पर बुझैत अछि इ त्याग छि !!
माँ कहैत इ जोगिनक छि मन्त्र
भगत कहैत चमुंडा क छि तंत्र
यौ भाई इ मिथिला क भाग्य थिक !!

जत बहैय 2.5 सं प्रेमक गंगा,
पुत्र विद्यापति के घर महादेव मचौलैन दंगा,
स्कूल म पढ़वाला बच्चा कहैत अछि इ प्यार छि !
कॉलेज वाला बजैथ इ त इश्क छि,
यौ भाई इ मिथला विश्व छि !!

मिठगर - मिठगर कर्णप्रिय बोल
थकान क दूर करवाला हवा
लाल - लाल तिलकोर आ
कजराइल कोइलीक बोल

येह चारू मिथलाक अंग थिक
विश्वक बड़का बाबु मिथिलाक संतान थिक
यौ भाई इ मिथिलाक प्राण थिक !!

हमरा मिथिला वासी पर इ य रिक्स
अहि बात के राखी अहिना फिक्स

'विदेह' २२५ म अंक ०१ मई २०१७ (वर्ष १० मास ११३ अंक २२५)

ऐ  अंकमे अछि :- १. संपादकीय संदेश २. गद्य २.१. १. राजदेव मण्‍डल -  दूटा बीहैन क था २. रबीन्‍द्र नारायण मिश...